स्पेशल सेल से मुठभेड़ के बाद कुख्यात बदमाश नदीम गिरफ्तार, पिस्टल और कारतूस बरामद

0 101


दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने बुधवार देर रात गाजीपुर चौक, एनएच 24 पर मुठभेड़ के बाद कुख्यात नदीम को गिरफ्तार किया है। तिलक नगर में दो ज्वेलर्स की दुकान में दिनदहाड़े गन प्वाइंट पर लूटपाट करने के मामले में नदीम वांछित था। डीसीपी स्पेशल सेल प्रमोद सिंह कुशवाहा के मुताबिक 22 वर्षीय कुख्यात नदीम कुरैशी मोहल्ला, कस्बा बहादुरगढ़, हापुड़, उत्तर प्रदेश का रहने वाला है। इसके पास से प्वाइंट 32 बोर की एक सेमी ओटोमेटिक पिस्टल, 6 कारतूस और बाइक बरामद की गई।

18 नवंबर को सेल को सूचना मिली कि कुख्यात नदीम किसी साथी से मिलने गाजीपुर आने वाला है। एसीपी अतर सिंह, इंस्पेक्टर शिव कुमार और कर्मवीर के नेतृत्व में पुलिस टीम ने गाजीपुर चौक के पास चेकिंग शुरू कर दी। देर रात 11.40 बजे उस होकर गुजरने पर सेल की टीम ने जब उसे रुकने का इशारा किया तो उसने पुलिस पार्टी पर गोली चला दी। एक गोली ऑपरेशन में शामिल सिपाही रविंदर सरोहा को छाती में लगी। बुलेटप्रूफ जैकेट पहने होने के कारण वह बाल बाल बच गए। नदीम ने पुलिस टीम पर चार गोलियां चलाई । जवाब में पुलिस टीम ने भी तीन गोलियां चलाई, जिसमे एक गोली नदीम के पैर में लगने पर वह घायल हो गया । जिसके बाद पुलिस ने उसे दबोच लिया। उपचार के लिए नदीम की लाल बहादुर शास्त्री अस्पताल में भर्ती कराया गया है।


27 जुलाई को नदीम ने तीन साथी शहजाद, अनस और शंकर उर्फ मनीष के साथ तिलक नगर में दिनदहाड़े मोहन चैन्स एंड ज्वेलर्स की दुकान में घुसकर लूटपाट की थीं । चारों ग्राहक बनकर शाम 5.30 बजे दुकान में घुसे थे और गन प्वाइंट पर लूटने के दौरान मालिक चांद चड्ढा द्वारा विरोध करने पर एक बदमाश ने उन पर गोली चला दी थी। होली उनके पेट में लगी थी। उपचार के बाद उनकी जान बच गई थी। जिससे वह घायल हो गए थे। वारदात के बाद चारों बदमाश आई 20 कार में सवार होकर पटेल नगर की तरफ भाग गए थे। उनके भागते ही पुलिस ने वायरलैस मैसेज फ़्लैश कर दिया था कि चार लुटेरे पटेल नगर की तरफ भाग गए हैं।


संदेश सुनकर डीसीपी मध्य जिला संजय भाटिया ने जिले में पिकेट लगवा चेकिंग शुरू करवा दी थी। रंजीत नगर और पटेल नगर पुलिस को ज्यादा अलर्ट कर दिया गया था। दोनों टीमें डीसीपी संजय भाटिया के नेतृत्व में पटेल नगर में चेकिंग कर रही थी। तभी आई 20 से बदमाशो को आते देख पुलिस टीम ने जब उन्हें रोकने को कहा तो बदमाशो ने पुलिस पार्टी पर गोली चला दी थी। डीसीपी बाल बाल बच गए थे। पुलिस ने जान पर खेल कर तीन बदमाश को दबोच लिया था। नदीम मौके से भागने में सफल हो गया था