सुशांत सिंह राजपूत ने जब निर्देशक अभिषेक कपूर से कहा था- अपनी दुनिया समेट रहा हूं!

0 51


सुशांत सिंह राजपूत और सारा अली ख़ान की फ़िल्म केदारनाथ की रिलीज़ को आज (7 दिसम्बर) दो साल पूरे हो गये। सुशांत इसी साल 14 जून को इस दुनिया को अलविदा कह गये थे। फ़िल्म के निर्देशक अभिषेक कपूर के लिए सुशांत का जाना निजी नुकसान से कम नहीं था, क्योंकि सुशांत ने अभिषेक की फ़िल्म काय पो चे से अपना बॉलीवुड करियर शुरू किया था।

अभिषेक ने सुशांत को याद करते हुए ट्विटर पर इमोशनल पोस्ट और तस्वीरें शेयर कीं। सुशांत ने फ़िल्म में मंसूर नाम का किरदार निभाया था, जो केदारनाथ धाम में तीर्थ यात्रियों के लिए पिट्ठू का काम करता है और उन्हें केदारनाथ मंदिर तक पहुंचाता है। फ़िल्म में सुशांत के लुक की तस्वीरें शेयर करके अभिषेक ने लिखा- द्वंद्व दोनों लोक में विषामृत पे था छिड़ा। अमृत सभी में बांट के, प्याला विष का तूने ख़ुद पिया। नमो नमो जी शंकरा, भोलेनाथ शंकरा। इसके साथ अभिषेक ने 2 Years Of Kedarnath और 2 Years Of SSR As Mansoor हैशटैग लिखे हैं।

एक और ट्वीट में अभिषेक ने फ़िल्म से जुड़ा एक दिलचस्प किस्सा बताया। उन्होंने सुशांत के हाथ की तस्वीर शेयर की, जिस पर कुछ लिखा हुआ है और आकृतियां बनी दिख रही हैं। इस बारे में अभिषेक ने बताया- मुझे याद है, जब मैंने फ़िल्म की कहानी सुशांत को सुनाई थी और मंसूर के बारे में विमर्श किया तो वो अपने हाथ पर कुछ लिख रहा था। मैंने पूछा, यह क्या रिख रहा है हाथ पे। उसने कहा- अपनी दुनिया समेट रहा हूं।

केदारनाथ से सैफ़ अली ख़ान और अमृता सिंह की बेटी सारा अली ख़ान ने बॉलीवुड डेब्यू किया था। फ़िल्म की कहानी वैसे तो अंतर-समुदाय प्रेम पर आधारित थी, जिसमें एक मुस्लिम पिट्ठू को ब्राह्मण लड़की से प्यार हो जाता है, मगर केदारनाथ में आयी तबाही इसकी पृष्ठभूमि बनी। फ़िल्म का निर्माण रॉनी स्क्रूवाला ने किया था। फ़िल्म की कहानी ख़ुद अभिषेक और कनिका ढिल्लों ने लिखी थी।