सुप्रीम कोर्ट के खिलाफ कामेडियन कुणाल कामरा के ट्वीट पर संसदीय समिति ने ट्विटर के अफसरों से पूछे सवाल

0 130


संसदीय समिति ने गुरुवार को ट्विटर के अफसरों से स्टैंडअप कॉमेडियन कुणाल कामरा के ट्वीट को लेकर सवाल पूछे हैं। समिति ने पूछा है कि ट्विटर ने कुणाल कामरा के सुप्रीम कोर्ट पर किए गए आक्रामक ट्वीट को क्यों सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर जारी रखा? सूत्रों ने बताया कि भाजपा सांसद मीनाक्षी लेखी की अध्यक्षता वाली संयुक्‍त संसदीय समिति ने ट्विटर) की पॉलिसी प्रमुख महिमा कौल से सख्त सवाल-जवाब किए हैं।

सूत्रों के मुताबिक, इस मामले में भाजपा सांसद मीनाक्षी लेखी और कांग्रेस नेता विवेक तन्खा ने ट्विटर पर सवाल उठाने का बीड़ा उठाया है। भाजपा सांसद मीनाक्षी लेखी ने बताया कि कुणाल कामरा के ट्वीट पर ट्विटर ने कहा है कि जब तक अदालत इस तरह के आदेश जारी नहीं करती, तब तक पद नहीं हटाया जा सकता। मीनाक्षी लेखी ने कहा कि हमने ट्विटर से 7 दिनों में जवाब मांगा है। चूंकि इनके संबंध में भारत में कोई कानून नहीं है, इसलिए हमें ऐसे सेवा प्रदाताओं के शीर्ष अधिकारियों से बात करनी होगी।

ट्विटर ने पहले लद्दाख को दिखाया चीन का हिस्‍सा

गौरतलब है कि ट्विटर चीन के हिस्से के रूप में लद्दाख को दिखाने के कारण पहले से ही मुश्किल में है। उसने पैनल से वादा किया है कि इसे 30 नवंबर तक ठीक कर लिया जाएगा और इसके लिए लिखित तौर पर माफी भी मांगी। उसका कहना है कि भारत की संप्रभुता का सम्‍मान करता है।

इस बारे में सांसद मीनाक्षी लेखी ने बताया था कि ट्विटर की ओर से दाखिल हलफनामे पर ट्विटर इंक के प्रमुख प्राइवेसी आफसर डेमियन करिएन ने हस्ताक्षर किए हैं। पिछले महीने संसदीय समिति और भारत सरकार ने ट्विटर को उसकी लोकेशन सेटिंग को लेकर चेतावनी दी थी जिसमें लेह को चीन में दिखाया गया था।

अटार्नी जनरल ने दी कुणल कामरा के खिलाफ मामला दर्ज करने की सहमति

स्टैंडअप कॉमेडियन कुणाल कामरा ने टीवी एंकर अर्नब गोस्वामी द्वारा आत्महत्या मामले में गिरफ्तारी के बाद सुप्रीम कोर्ट द्वारा जमानत दिए जाने से अपने ट्वीट्स के जरिए शीर्ष अदालत पर हमला बोला था। करीब आठ वकीलों के अनुरोध पर इस मामले में अटार्नी जनरल वेणुगोपाल ने अवमानना का मामला दर्ज करने की अनुमति दी है।