सीएम केजरीवाल की ‘नजरबंदी’ पर गौतम गंभीर का ट्वीट- ‘किसान तो सिर्फ बहाना है, पंजाब की सियासत में आना है’

0 67


एक ओर जहां आम आदमी पार्टी मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को दिल्ली पुलिस द्वारा नजर बंद करने का दावा कर रही है तो वहीं इस आरोप पर भारतीय जनता पार्टी हमलावर है। हालांकि, दिल्ली पुलिस ने बाकायदा जवाब दिया है और कहा है कि सुरक्षा व्यवस्था के तहत ऐसा किया है, नजरबंदी जैसी बात नहीं है। इस बीच आम आदमी पार्टी के दावे पर पूर्व भारतीय क्रिकेटर और पूर्वी दिल्ली से लोकसभा सांसद गौतम गंभीर ने ट्वीट कर मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल पर हमला बोला है।

सीएम अरविंद केजरीवाल को निशाने पर लेते हुए गौतम गंभीर ने ट्वीट किया है- ‘किसान तो सिर्फ बहाना है, पंजाब की सियासत में आना है। खुद ही घर में बंद होकर हाउस अरेस्ट चिल्लाना, ये सिर्फ अरविन्द केजरीवाल कर सकते हैं।’ यहां पर बता दें कि नगर निगमों के मेयर दिल्ली के सीएम के आवास के बाहर प्रदर्शन कर रहे हैं, इसको लेकर सुरक्षा कड़ी की गई है।


वहीं, इससे पहले अरविंद केजरीवाल सोमवार को सिंघु बॉर्डर पहुंचे थे और कहा था कि किसानों के लिए यहां पर शौचालय की व्यवस्था की गई है। इसकी साफ-सफाई ठीक है। दूसरी तरफ पानी की व्यवस्था की गई है। किसान बता रहे हैं कि अंदर तक पानी नहीं जा पा रहा है तो आज मोटर और पाइप लगाकर पानी को अंदर तक लेकर जाएंगे। साथ ही किचन आदि की व्यवस्था भी ठीक है।


उन्होंने कहा कि दिल्ली सरकार के इंतजामों से किसान पूरी तरह से संतुष्ट हैं। उन्होंने कहा कि मैं किसानों के लगातार संपर्क में हूं। हमारे वरिष्ठ नेता एवं विधायक जरनैल सिंह यहां पर लगातार बने हुए हैं। वह बीती रात में भी यहां पर किसानों के साथ सोए हैं। उन्होंने कहा कि मैं उम्मीद करता हूं कि इस समस्या का जल्द से जल्द समाधान हो जाएगा।

भारत बंद का केजरीवाल ने किया था समर्थन


अरविंद केजरीवाल ने कहा था कि आम आदमी पार्टी भारत बंद का समर्थन करती है। किसानों के भारत बंद में पूरे देशभर में आम आदमी पार्टी के कार्यकर्ता भाग लेंगे। उन्होंने कहा कि मैं पूरे देश के लोगों से अपील करता हूं कि वे किसानों के भारत बंद में सहयोग करें। मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि केंद्र सरकार ने दिल्ली में अस्थाई जेल बनाने के लिए स्टेडियमों को मांगा था और मेरे ऊपर काफी दबाव भी बनाया गया था। हम लोगों ने अपनी अंतरात्मा की आवाज सुनी और किसानों के लिए जेल बनाने की अनुमति नहीं दी।