सीआईएससीई ने सभी राज्य / केंद्रशासित प्रदेश के मुख्यमंत्री से स्कूलों को 4 जनवरी से खोलने की अनुमति देने का किया अनुरोध

0 89


काउंसिल फॉर द इंडियन स्कूल सर्टिफिकेट एग्जामिनेशन (CISCE) द्वारा 4 जनवरी, 2021 से स्कूलों को फिर से खोला जा सकता है। CISCE ने सभी राज्य / केंद्रशासित प्रदेशों के मुख्यमंत्री से अनुरोध किया है कि वे विशेष रूप से 10वीं कक्षा और 12वीं कक्षा के स्टूडेंट्स के लिए स्कूलों को फिर से खोलने पर विचार करें। हालांकि, संबंधित राज्यों ने अभी तक इस पर अंतिम निर्णय नहीं लिया है।

CISCE ने एक बयान में कहा है कि यदि स्कूलों को फिर से खोलने की अनुमति दी जाती है, तो स्कूल सभी सुरक्षा दिशानिर्देशों और सरकारों द्वारा निर्धारित एसओपी का पालन करेंगे। स्कूलों को फिर से खोलने के बाद, समय का उपयोग प्रैक्टिकल वर्क्स, प्रोजेक्ट वर्क्स और डाउट क्लीयरिंग सेशन आदि के लिए किया जाएगा।

बता दें कि कोरोना वायरस महामारी के कारण मार्च 2020 से सभी स्कूल बंद कर दिए गए थे। CISCE ने अब राज्यों के मुख्यमंत्री से परीक्षा की अंतिम तैयारियों के लिए स्कूलों को फिर से खोलने की अनुमति देने का अनुरोध किया है। इसके साथ ही, काउन्सिल ने भारत के चुनाव आयोग से भी आगामी चुनाव तिथियों को साझा करने के लिए अनुरोध किया है। ताकि, 10वीं और 12वीं बोर्ड परीक्षा के लिए तारीखों को निर्धारित करने में कोई परेशानी न हो।

गौरतलब है कि महामारी के कारण मार्च महीने से देश भर के स्कूल बंद कर दिए गए थे। हालांकि, कुछ राज्यों ने स्कूलों को फिर से खोल दिया है। जबकि, कई राज्यों ने स्कूलों को फिलहाल बंद रखने का निर्णय लिया है। हाल ही में, हिमाचल प्रदेश सरकार ने राज्य में स्कूल, कॉलेज सहित सभी शिक्षण संस्थानों को 31 दिसंबर तक बंद रखने की घोषणा की थी। वहीं, दिल्ली के उपमुख्यमंत्री सह शिक्षा मंत्री मनीष सिसोदिया ने कहा है कि जब तक वैक्सीन नहीं आ जाती है, राज्य में सभी स्कूल बंद रहेंगे। इसके अलावा, त्रिपुरा, असम, राजस्थान, जम्मू एवं कश्मीर राज्य सरकारों ने भी स्कूलों को फिलहाल बंद रखने की घोषणा की है।