सिंघु, टीकरी और गाजीपुर बॉर्डर के साथ आसपास के इलाकों में मंगलवार रात तक इंटरनेट बंद

0 41


तीनों केंद्रीय कृषि कानूनों को वापस लेने की मांग को लेकर सिंघु, टीकरी और गाजीपुर बॉर्डर पर किसानों का प्रदर्शन जारी है। इस बीच केंद्रीय गृह मंत्रालय (Ministry of Home Affairs) ने एक अहम फैसले में 2 फरवरी (मंगलवार) की रात को 11 बजे तक इंटरनेट सेवाएं निलंबित करने का फैसला लिया है। इसके तहत मंगलवार रात 11 बजे तक टीकरी बॉर्डर, सिंघु बॉर्डर और गाजीपुर बॉर्डर पर इंटरनेट सेवा बंद रहेगी। सरकार की ओर से सभी निजी और सरकारी टेलिकॉम कंपनियों से इन आदेशों का पालन करने के लिए कहा है। सरकार ने ये आदेश किसान आंदोलन के मद्देनजर क्षेत्र में शांति, सार्वजनिक व्यवस्था तथा कानून-व्यवस्था बनाए रखने के लिए जारी किए हैं। इससे पहले यहां पर 29 जनवरी को रात 11 बजे से 31 जनवरी को रात 11 बजे तक के लिए इंटरनेट सेवा पर रोक लगाई गई थी।

बताया जा रहा है कि 26 जनवरी के उपद्रव के बाद भी गाजीपुर बॉर्डर, सिंघु बॉर्डर समेत कई बॉर्डर पर किसान आंदोलनरत हैं और हालात खराब ना हो, इसके चलते अब एक बार फिर से गाजीपुर और सिंघु बॉर्डर आदि पर इंटरनेट सेवा को बंद कर दिया गया है। बंद हुई इंटरनेट सेवा पर भारतीय किसान यूनियन (Bhartiya kisan Union) ने भी एतराज जताया है। इंटरनेट सेवा बंद करने से नाराज भारतीय किसान यूनियन (Bhartiya kisan Union) के प्रवक्ता और गाजीपुर बॉर्डर पर आंदोलन की कमान संभालने वाले राकेश टिकैत (Rakesh Tikait) ने कहा है कि गाजीपुर बॉर्डर पर इंटरनेट बंद कर दिया गया है। सरकार किसानों की आवाज को नहीं रोक सकती।


गौरतलब है कि इससे पहले गणतंत्र दिवस यानी 26 जनवरी के दिन भी किसान ट्रैक्टर परेड के दौरान दिल्ली के कुछ हिस्सों में इंटरनेट सेवाएं अस्थायी तौर पर बंद कर दी गई थीं। गणतंत्र दिवस पर किसानों की ट्रैक्टर परेड के दौरान हिंसा की घटना होने पर यह कदम उठाया गया था, लेकिन कुछ उपद्रवी लाल किला पर पहुंच गए। इस दौरान उपद्रवियों ने लाल किले की प्राचीर पर तिरंगे के बगल में एक अन्य झंडा लगा दिया था।