साल 2020 में तीसरी आंख ने कराए एक करोड़ 27 लाख से ज्यादा चालान

0 46


पिछले साल कोरोना संकट के दौरान लाकडाउन में सड़कें खाली रहीं। इससे लोगों ने सड़कों पर जमकर गाड़ियां दौड़ाईं और यातायात नियमों का उल्लंघन किया। पुलिस की वार्षिक पत्रकार वार्ता में दी गई जानकारी के मुताबिक साल 2020 में कटे कुल एक करोड़ 38 लाख दो हजार 249 चालानों में से एक करोड़ 27 लाख तीन हजार 559 चालान कैमरे से कटे। जबकि, 10 लाख 99 हजार 414 चालान यातायात पुलिसकर्मियों द्वारा काटे गए। गलत पार्किंग, बिना हेलमेट, ट्रिपल राइडिंग आदि नियमों का उल्लंघन करने पर लोगों के चालान काटे गए।

घातक सड़क दुर्घटनाओं में आई 19 फीसद की कमी: साल 2019 की तुलना में 2020 में घातक सड़क दुर्घटनाओं में 19 फीसद की कमी आई। 2019 में 1433 गंभीर सड़क दुर्घटनाएं हुईं तो वहीं, 2020 में 1163, जो पिछले 30 साल के मुकाबले सबसे कम हैं।


हाटस्पाट पर नामित किए नोडल अधिकारी: दिल्ली सरकार के पर्यावरण विभाग द्वारा वायु प्रदूषण वाले 13 हाटस्पाट की पहचान की गई, जहां वाहनों का दबाव अधिक होने के कारण वायु प्रदूषण का स्तर ज्यादा था। इन हाटस्पाट वाले इलाकों से संबंधित सर्किल के यातायात निरीक्षक और सहायक पुलिस आयुक्त को नोडल अधिकारी नामित किया गया।

इस साल पूरी दिल्ली में आइटीएमएस लागू होगा: पुलिस आयुक्त ने बताया कि दिल्ली की यातायात व्यवस्था को अत्याधुनिक बनाने के लिए यातायात पुलिस ने एक एकीकृत यातायात प्रबंधन प्रणाली (आइटीएमएस) पर एक प्रोजेक्ट तैयार किया है। यह प्रणाली रडार तकनीक पर आधारित है। इसके तहत राजधानी के सभी चौराहों पर कैमरे लगाए जाएंगे। इससे यातायात नियमों के उल्लंघन पर रोक लगेगी। इस साल आइटीएमएस को पूरी दिल्ली में लागू करने का लक्ष्य रखा गया है। वर्ष 2020 में कैमरे के माध्यम से लाल बत्ती और गति सीमा का उल्लंघन करने वाले 98 लाख 26 हजार 299 लोगों के चालान कटे।