साकेत कोर्ट 13 साल बाद बाटला हाउस मुठभेढ़ मामले में सुनाएगी फैसला

103


दिल्ली में हुए सीरियल ब्लास्ट मामले में आरोपित इंडियन मुजाहिद्दीन के आतंकी आरिज खान के खिलाफ 13 साल बाद सोमवार को दिल्ली की साकेत अदालत फैसला सुनाएगी। आरिज पर दिल्ली के अलावा देश के अन्य राज्यों में ब्लास्ट करने का आरोप है। सीरियल ब्लास्ट के कुछ दिन बाद बाटला हाउस में आरिज समेत अन्य आरोपितों के होने की सूचना मिली थी। इस पर दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल वहां पहुंची थी और वहां पुलिस की आतंकियों से मुठभेढ़ हुई थी। इसमें सेल के इंस्पेक्टर मोहन चंद शर्मा शहीद हो गए थे। उनकी हत्या के मामले में शहजाद अहमद उर्फ पप्पू को दोषी करार दिया जा चुका है।

वहीं बम बनाने में एक्सपर्ट आरिज वर्ष 2007 में उत्तर प्रदेश, 2008 में जयपुर और अहमदाबाद विस्फोट मामले में वांछित है। 13 सितंबर 2008 को आरिज खान अपने साथी आतिफ अमीन, मो. साजिद उर्फ छोटा साजिद, मो. सैफ व शहजाद अहमद उर्फ पप्पू के साथ बाटला हाउस के फ्लैट में मौजूद था। आरिज खान व शहजाद उर्फ पप्पू पुलिस टीम पर फायरिंग करते हुए फरार हो गए थे। करीब एक महीने बाद दोनों अलग हो गए थे। हमले के बाद आरिज फरार हो गया था। बाद में आरिज बिहार गया और वहां भारत-नेपाल बार्डर को पार करते हुए विराटनगर पहुंचा।


नेपाल में आरिज ने मो. सलीम के नाम से अपना पासपोर्ट बनवाया था और वह नेपाल में पलपा, कपिलवस्तु और गोरखा क्षेत्र में रह कर रेस्टोरेंट चलाता था। नेपाल में आरिज ने दूसरी शादी कर ली थी। उसे दस साल बाद दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने फरवरी 2018 को गिरफ्तार किया था।

बता दें कि बटला हाउस एनकाउंटर पर बॉलीवुड में इसी नाम से एक फिल्म भी बनी है, जो काफी सफल हुई थी। इसमें मुख्य भूमिका जॉन अब्राहम ने निभाई थी, इतना ही नहीं वह इस फिल्म के निर्माता भी थे।

Get real time updates directly on you device, subscribe now.