सभी शासकीय और निजी महाविद्यालय 30 अप्रैल तक बंद, कोविड-19 के बढ़ते मामलों के चलते सरकार ने लिया फैसला

0 134


Gujarat: कोविड-19 महामारी के फिर से लगातार बढ़ रहे मामलों के चलते देश भर में विद्यालयों के साथ-साथ अब उच्च शिक्षण संस्थानों को भी बंद किये जाने की घोषणाएं होने लगीं हैं। उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा सभी शिक्षण संस्थानों को 30 अप्रैल तक बंद किये जाने के बाद अब गुजरात सरकार ने भी राज्य से सभी शासकीय और निजी महाविद्यालयों को 30 अप्रैल तक बंद रखने के आदेश दिये हैं। इन संस्थानों में विभिन्न स्नातक एवं परा-स्नातक स्तरीय पाठ्यक्रमों की कक्षाएं ऑनलाइन मोड में आयोजित की जाएंगी। राज्य सरकार द्वारा ये आदेश रविवार, 11 अप्रैल 2021 को जारी किये गये। बता दें कि इससे पहले राज्य सरकार ने विद्यालयों में पहली लेकर 9वीं तक के स्टूडेंट्स के लिए स्कूलों की बंद रखने के आदेश दिये गये थे। हालांकि, 10वीं, 11वीं और 12वीं कक्षाओं के लिए आगामी बोर्ड परीक्षाओं के मद्देनजर ऑनलाइन क्लासेस जारी हैं।


पिछले वर्ष भी कोरोना महामारी के प्रसार को रोकने के लिए पूरे देश में लगाये गये लॉकडाउन के चलते लगभग साल भर तक शिक्षण संस्थानों को बंद रखने के बाद इस वर्ष जनवरी और फरवरी 2021 में चरणबद्ध तरीके से खोला गया था।

रविवार को आए 5,400 नये मामले

वहीं, दूसरी तरफ देश के अन्य हिस्सों की तरह ही गुजरात में भी कोविड-19 संक्रमण के मामले बढ़ रहे हैं। रविवार को राज्य में कोविड-19 संक्रमण के 5,400 नये मामले सामने आए और 54 मौते हुईं। हालात पर काबू पाने के लिए राज्य सरकार ने 20 शहरों में रात्रि कर्फ्यू लगाया है, इनमें जामनगर, भावनगर, वडोदरा, सूरत, अहमदाबाद, गांधीधाम, भरूच, मोरबी, सुरेंद्रनगर, अमरेली, राजकोट, दोहोड, पाटन प्रमुख हैं।