संयुक्त किसान मोर्चा ने लाल किला हिंसा से लिया सबक, देशवासियों से कर डाली अपील

0 42


तीनों केंद्रीय कृषि कानूनों को वापस लेने की मांग को लेकर दिल्ली-एनसीआर के बॉर्डर (गाजीपुर, टीकरी, शाहजहांपुर और सिंघु) पर चल रहा प्रदर्शन शुक्रवार को 120 दिन यानी 4 महीने पूरे कर जाएगा। इस बाबत संयुक्त किसान मोर्चा ( Samyukta Kisan Morcha) ने धरना-प्रदर्शन के 4 महीने पूरे होने पर शुक्रवार (26 मार्च) को सुबह 6 बजे से लेकर शाम 6 बजे तक भारत बंद का आह्वान किया है। भारत बंद को सफल बनाने में जुटे संयुक्त किसान मोर्चा ने लोगों से अपील की है कि वे शुक्रवार को होने वाले भारत बंद को सफल बनाने में योगदान दें। संयुक्त किसान मोर्चा की कार्यकारिणी से जुड़े किसान नेता दर्शनपाल का कहना है कि हमने देशवासियों से गुजारिश की है कि वे किसानों के सम्मान में भारत बंद को सफल बनाएं।

बता दें कि संयुक्त किसान मोर्चा के आह्वान पर 26 मार्च को पूरा दिन भारत बंद बुलाया गया है। स्थानीय नेताओं की गांव स्तर पर घूमकर बंद में शामिल होने की अपील करने की लगाई है। किसान के आह्वान पर 26 मार्च को बुलाए गए भारत बंद को सफल बनाने के लिए गांव स्तर पर तैयारी की जा रही है। संयुक्त मोर्चे के नेताओं ने स्थानीय नेताओं को जिम्मेदारी सौंपी हुई है कि वे गांव-गांव जाकर लोगों को बंद में भारी संख्या में शामिल होने की अपील करें। इतना ही नहीं शहरी क्षेत्र में विशेष तौर पर दुकानदारों से भी 26 मार्च को दुकानों को बंद रखने की अपील की जाएगी, जिसके लिए 25 मार्च को दुकानों पर जाकर उनसे बंद में साथ देने को कहा जा रहा है।


सोनीपत के खरखौदा में बीते दिनों ही किसान-मजदूर महासंघ के राष्ट्रीय अध्यक्ष अभिमन्यू कोहाड़ की अगुवाई में बंद को लेकर बैठक बुलाई गई थी, जिसमें गांव स्तर पर बंद को मैसेज दिया जाए। उधर संयुक्त किसान मोर्चे की तरफ से अपील की गई है कि बंद को शांतिपूर्ण रखना है, ऐसे में शरारती तत्वों पर भी विशेष रूप से ध्यान रखा जाएगा। बता दें कि लाल किला हिंसा से सबक लेते हुए संयुक्त किसान मोर्चा ने यह अपील की है।


भारतीय किसान यूनियन की खरखौदा ब्लाक इकाई प्रधान जयसिंह की अगुवाई में हर गांव में जाकर भारत बंद का संदेश दिया जा रहा है। इस दौरान मोहित सेहरी, राजेंद्र सेहरी, सचिन नकलोई, सुभाष निरथान, देवेंद्र नकलोई, सतीश कुंडल व शमशेर खांडा मौजूद रहे।