विश्व बाल दिवस पर यूनिसेफ की 572 मिलियन प्रभावित बच्चों के लिए इस योजना को अपनाने की सरकारों से अपील

0 72


आज विश्व बाल दिवस है। संयुक्त राष्ट्र द्वारा वर्ष 1954 में 20 नवंबर को ‘यूनिवर्सल चिल्डेंन्स डे’ के तौर पर मनाये जाने की शुरूआत की गयी थी। विश्व बाल दिवस को बाल हित के लिए अंतरराष्ट्रीय समग्रता स्थापित करने, पूरे विश्व के बच्चों में जागरूकता बढ़ाने और बच्चों को हितों में सुधार के उद्देश्यों से मनाया जाता है। संयुक्त राष्ट्र के अनुसार, पैरैंट्स, टीचर्स, नर्स एवं डाक्टर, सरकारी प्रतिनिधि और सामाजिक कार्यकर्ता, धार्मिक एवं सामुदायिक प्रतिनिधि, कॉर्पोरेट हाउसेस और मीडियाकर्मियों के साथ-साथ स्वयं बच्चे भी विश्व बाल दिवस को सामाजिक, सामुदायिक और राष्ट्रीय स्तर पर प्रासंगिक बनाने में महत्वपूर्ण भूमिका अदा कर सकते हैं।

विश्व बाल दिवस 2020 के अवसर यूनाइटेड नेशंस चिल्डेंन्स फंड (यूनीसेफ) ने “एवर्टिंग ए लॉस्ट कोविड जेनेरेशन” नामक एक स्पेशल रिपोर्ट प्रकाशित करते हुए चेताया कि इस वर्ष कोविड-19 महामारी के चलते समूचे विश्व में स्कूलों को बंद रखने से 572 मिलियन बच्चे प्रभावित हुए हैं। यूनिसेफ के मुताबिक महामारी के चलते उत्पन्न हुई परिस्थितियों के चलते दुनिया भर के बच्चों की शिक्षा, पोषण और स्वास्थ्य पर नकारात्मक असर पड़ा है और इससे बच्चों की एक पीढ़ी के परिपक्व होने की चुनौती पूरे विश्व के सामने आ गयी है।


यूनिसेफ और सहयोगी संगठनों ने कोविड-19 से उत्पन्न परिस्थितियों में बच्चों एवं बाल हितों की रक्षा के लिए छह सूत्रीय योजना को अपनाने की अपील सभी देशों की सरकारों से की है।

  1. सभी बच्चों की लर्निंग सुनिश्चित करें। किसी भी प्रकार के डिजिटल डिवाइड को समाप्त करें।
  2. हर बच्चे तक स्वास्थ्य एवं पोषण सेवाओं की पहुंच और कोविड-19 महामारी वैक्सीन की उपलब्धता सुनिश्चित करें।
  3. बच्चों और युवाओं के मानसिक स्वास्थ्य और सहायता एवं सुरक्षा करें और बचपन की कुप्रथाओं, लिंग-आधारित हिंसा और उपेक्षा को समाप्त करें।
  4. साफ-सफाई एवं स्वच्छता के साथ-साथ साफ पानी की उपलब्धता बढ़ाएं और पर्यावरणीय गिरावट एवं जलवायु परिवर्तन के कारणों पर रोक लगायें।
  5. बच्चों में बढ़ रही निर्धनता रोक लगायें और सुनिश्चित करें कि उठाये गये कदमों का लाभ सभी को मिले।
  6. संघर्ष, आपदा और विस्थापन से प्रभावित बच्चों एवं उनके परिवारों के संरक्षण एवं सहयोग के प्रयासों को दोगुना करें।