लॉकडाउन : सैकड़ों किलोमीटर पैदल तो साइकिल से किया सफर

0 82


लॉकडाउन में सड़कों पर सन्नाटा पसरा और परिवहन के सभी साधन बंद हुए तो सबसे अधिक संकट श्रमिकों पर पड़ा। रोजाना कमाने खाने वालों के लिए केवल घर गांव ही सहारा बना। बड़े शहरों से लोगों ने पलायन शुरू किया तो सैकड़ों किलोमीटर पैदल ही लोग चल पड़े। साइकिल, हाथ रिक्शा व बाइक से ही सभी चल पड़े। थोड़ी छूट मिली तो ट्रक, ट्राला व कंटेनर में जान जोखिम में डालकर लोगों ने सफर किया।

हजारों की संख्या में कानपुर देहात जिले में भी श्रमिकों ने पलायन किया। थके हारे, भूखे प्यासे लोग चलते ही रहे। इस दौरान पुलिस कर्मियों के साथ ही समाजसेवियों ने मदद का हाथ बढ़ाया। भोजन पानी का इंतजाम किया गया साथ ही कई जगह पुलिस कर्मियों ने लोगों को अपने वाहन से छोड़ा। बारा टोल तो समाजसेवा करने के लिए हब बन गया था। यहां वाहन धीमी रफ्तार में होते तो लोग लंच पैकेट व पानी देने को जुट जाते हैं। यह मंजर आज भी लोग याद करते हैं तो ईश्वर से प्रार्थना करते हैं कि अब ऐसा समय न आए।

Watch This Also