लाल बहादुर शास्त्री ने ‘जय जवान जय किसान’ का नारा देने से लेकर पाकिस्तान को मुंहतोड़ दिया था जवाब

117


देश के दूसरे प्रधानमंत्री लाल बहादुर शास्त्री को आज देश याद कर रहा है। आज ही के दिन वर्ष 1966 उज्बेकिस्तान के ताशकंद में उनका निधन हो गया था। उनकी पुण्यतिथि पर देश के दिग्गजों ने उन्हें नमन किया है। लाल बहादुर शास्त्री ने ‘जय जवान जय किसान’ का नारा देने से लेकर पाकिस्तान को मुंहतोड़ जवाब दिया था। उनके ही नेतृत्व में भारत ने वर्ष 1965 की जंग में पाकिस्तान को शिकस्त दी थी। उनकी मौत की कहानी अभी तक रहस्य में है।

पाकिस्तान को करारी हार देने के बाद वह वहां के राष्ट्रपति अयूब खान के साथ युद्ध खत्म करने के समझौते पर हस्ताक्षर करने के लिए ताशंकद गए थे और वहीं उनकी मौत हो गई। बताया जाता है कि उनकी मौत दिल के दौरा पड़ने से हुई थी वहीं कई रिपोर्ट में यह दावा किया गया है कि उनकी मौत को प्लान किया गया था। ऐसे में आज तक उनकी मौत सभी लोगों के लिए रहस्यमय बनी हुई है। देश के पहले प्रधानमंत्री जवाहर लाल नेहरू के निधन के बाद वर्ष 1964, तारीख 9 जून को वह भारत के प्रधानमंत्री बने थे। मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, करीब 18 महीने तक वह देश के प्रधानमंत्री रहे।

Get real time updates directly on you device, subscribe now.