रोहित शर्मा ने किया खुलासा, बताया क्यों नहीं मिली उनको टी20 और वनडे टीम में जगह

0 92


भारतीय टीम के सलामी बल्लेबाज रोहित शर्मा को इंडियन प्रीमियर लीग यानी आइपीएल के 13वें सीजन के दौरान हैमस्ट्रिंग इंजरी हुई थी। इसके बाद वे कई मैच नहीं खेले थे। यहां तक कि ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ चुनी गई तीनों फॉर्मेट की टीम में उनका चयन नहीं हुआ था, लेकिन वे आइपीएल 2020 के आखिरी कुछ मैचों में वे मैदान पर उतरे थे और अपनी चोट के बारे में अपडेट दी थी। इसी की वजह से उनको टेस्ट क्रिकेट में मौका मिला था। अब रोहित ने अपनी हैमस्ट्रिंग को लेकर एक बार फिर से बयान दिया है।

हिटमैन रोहित शर्मा ने कहा है कि वे चोट से उबर रहे हैं और ऑस्ट्रेलिया के दौरे के लिए युद्ध स्तर पर तैयारी कर रहे हैं। भारत की सीमित ओवरों के उपकप्तान रोहित शर्मा ने समाचार एजेंसी पीटीआइ से की गई एक विस्तृत बातचीत में कहा है, “ईमानदारी से मुझे नहीं पता कि क्या चल रहा था। सभी लोग किस बारे में बात कर रहे थे, लेकिन मुझे रिकॉर्ड पर डाल दिया, मैं लगातार बीसीसीआइ और मुंबई इंडियंस के साथ संवाद कर रहा था।”


दिल्ली कैपिटल के खिलाफ रोहित ने आइपीएल 2020 के फाइनल में 50 गेंदों में 68 रनों की मैच विनिंग पारी खेली, जिसमें उन्हें दर्द से जूझना पड़ा। रोहित वर्तमान में ऑस्ट्रेलिया जाने से पहले बेंगलुरु में नेशनल क्रिकेट अकादमी यानी एनसीए में कंडीशनिंग पर काम कर रहे हैं। उन्होंने कहा, “मैंने उनसे (मुंबई इंडियंस) से कहा कि मैं मैदान पर उतर सकता हूं, क्योंकि यह सबसे छोटा प्रारूप है और मैं स्थिति को काफी अच्छी तरह से मैनेज कर पाऊंगा। एक बार जब मैंने अपना दिमाग साफ कर दिया, तो मुझे इस पर ध्यान केंद्रित करने की जरूरत थी कि मुझे क्या करना है।”


रोहित ने आगे बताया, “हैमस्ट्रिंग में बिल्कुल ठीक से महसूस कर रहा हूं। बस इसे अच्छा और मजबूत बनाने की प्रक्रिया शुरू कर दी है। इससे पहले कि मैं लंबा प्रारूप खेलूं, मुझे इस बात को स्पष्ट रूप से ध्यान में रखने की आवश्यकता है कि कोई भी ऐसी परेशानी न हो, जिससे कि मुझे जूझना पड़े।” उन्होंने कहा है मुझे इस बात से फर्क नहीं पड़ता कि लोग मेरे बारे में क्या बात कर रहे हैं। उन्होंने जब तक कोई मैदान में नहीं जाता, किसी को पता नहीं चलेगा। शरीर कैसे आकार ले रहा है।


टेस्ट के लिए तैयार होने के लिए रोहित को तीन और साढ़े तीन सप्ताह की आवश्यकता थी। ऐसे में उन्होंने वनडे और टी20 सीरीज में शामिल होना जरूरी नहीं समझा। उन्होंने कहा है कि वनडे और टी20 सीरीज लगातार होनी है। ऐसे में उनको चोट से उबरने का मौका मिल जाता है। रोहित ने अपनी आइपीएल फ्रेंचाइजी मुंबई इंडियंस के साथ अपने स्थायी संबंधों के बारे में भी बताया। उन्होंने कहा कि पांच बार के चैंपियन रातोंरात नहीं बने।