राजधानी को अंधेरे में डुबाने की साजिश रच रहे आतंकी, भेज रहे मैसेज

0 85


गणतंत्र दिवस के मद्देनजर आतंकी समूह सिख फार जस्टिस (एसएफजे) ने दिल्ली की बिजली काटने की धमकी दी है। उनकी राजधानी को अंधेरे में डुबाने की साजिश है। इस संबंध में कृषि कानून के विरोध में आंदोलन कर रहे किसानों के पास वीडियो मैसेज भेजे जा रहे हैं।

वहीं, ब्रिटेन से भी लोगों के पास रिकॉर्ड फोन कॉल आ रही है। जिसमें खालिस्तानी संगठन द्वारा आतंकी हमले की बात बता लोगों को 26 जनवरी के दिन घर से निकलने से मना किया जा रहा है। इस दोनों मामले में अभी तक पुलिस ने कोई मुकदमा दर्ज नहीं किया है। लेकिन पुलिस पूरी तरह सतर्क है। पुलिस के वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि दिल्ली में गणतंत्र दिवस के मद्देनजर कड़ी सुरक्षा व्यवस्था की गई है।

पुलिस सूत्रों के मुताबिक आतंकी समूह सिख फार जस्टिस (एसएफजे) की ओर से केंद्र सरकार द्वारा लागू किए गए कृषि कानूनों के खिलाफ विरोध प्रदर्शन कर रहे पंजाब के किसानों के पास सोमवार को एक वीडियो भेजा गया। जिसमें उन्हें गणतंत्र दिवस पर उकसाने की कोशिश की गई है। किसानों के पास भेजे गए वीडियो मैसेज में एसएफजे के प्रमुख व आतंकी गुरपतवंत सिंह पन्नू ने कहा है कि बीएसईएस राजधानी पावर लिमिटेड और बीएसईएस यमुना पावर लिमिटेड दिल्ली को बिजली प्रदान करती हैं। इस कंपनी का मालिक अंबानी है।


नए कृषि कानून से इस कंपनी को ही ज्यादा फायदा होगा। इसलिए किसान 25 और 26 जनवरी के दिन दिल्ली की बिजली काट दें। ताकि राजधानी में अंधेरा फैल जाए और सरकार किसानों की मांग मांगने को मजबूर हो जाए। वहीं, मंगलवार से एसएफजे की ओर से दिल्ली के निवासियों को गणतंत्र दिवस के दिन घरों से नहीं निकलने की धमकी भरे फोन भी आ रहे हैं। रिकॉर्ड फोन काल में पन्नू लोगों से कह रहा है कि सरकार खालिस्तान की मांग को अहमियत नहीं दे रही है।

इसलिए खालिस्तानी आतंकी गणतंत्र दिवस के दिन दिल्ली में आतंकी हमला करेंगे। इसलिए लोग इस दिन ना तो घरों से निकलें और ना ही गणतंत्र दिवस की परेड में जाए। वीडियो और ऑडियो काल ऑनलाइन मीडिया पर भी वायरल हो रही हैं। आतंकी संगठन ने गत वर्ष नवंबर महीने में हमले की बात बता लोगों से लंदन जाने वाली एयर इंडिया की उड़ान से ब्रिटेन जाने से माना किया था।

इससे पहले भी एसएफजे की ओर से लाल किले पर खालिस्तानी झंडा फहराने पर लोगों को इनामा देेन सहित अलग-अलग प्रकार की बातें कही जा चुकी हैं। खालिस्तानी आतंकी संगठन की ओर से फैलाए जा रहे इन वीडियो और फोन काल के मद्देनजर पुलिस अधिकारी सक्रिय हो गए हैं। पुलिस के वरिष्ठ अधिकारी के मुताबिक राष्ट्रीय पर्व आने पर देश विरोधी संगठनों द्वारा हर बार इस प्रकार के प्रयास किए जाते हैं। लेकिन पुलिस उनके मंसूबे को किसी भी तरह से कामयाब नहीं होने देगी। पुलिस इन मामलों पर नजर रखे हुए है और दिल्ली की सुरक्षा चाक चौबंद है।