मुश्किल में थी टीम इंडिया फिर सुंदर और शार्दुल ने पलट दिया मैच, हासिल की ऐसी खास उपलब्धि

0 73


ब्रिसबेन टेस्ट मैच की पहली पारी में भारतीय टीम की वापसी सातवें व आठवें नंबर के बल्लेबाज वाशिंगटन सुंदर व शार्दुल ठाकुर ने कराई। हालांकि पहली पारी में भारतीय टीम 369 के मुकाबले 336 रन पर आउट हो गई और पहली पारी के आधार पर 33 रन से पिछड़ गई, लेकिन टीम को इस स्कोर तक पहुंचाने में सुंदर और शार्दुल का बड़ा योगदान रहा और इनकी जितनी तारीफ की जाए वो कम है।

टीम इंडिया पहली पारी में 186 रन पर 6 विकेट गंवा चुकी थी और ऐसा लग रहा था कि टीम शायद 250 तक भी ना पहुंच पाए क्योंकि सारे स्टार बल्लेबाज पवेलियन लौट चुके थे, लेकिन इन दोनों बल्लेबाजों ने कमाल का खेल दिखाया। दोनों के बीच सातवें विकेट के लिए 123 रन की साझेदारी हुई और जब टीम का सातवां विकेट गिरा तब स्कोर 309 पर पहुंच गया था। ब्रिस्बेन में टेस्ट में 7वें विकेट के लिए ये भारत की तरफ से की गई सबसे बड़ी साझेदारी भी रही। इससे पहले इस मैदान पर टेस्ट में भारत की तरफ से सबसे बड़ी साझेदारी सातवें विकेट के लिए साल 1991 में कपिल देव व मनोज प्रभाकर के बीच हुई थी जो 58 रन की थी।

शार्दुल ठाकुर ने टीम के लिए आठवें नंबर पर बल्लेबाजी करते हुए 115 गेंदों का सामना करते हुए 9 चौके व 2 छक्कों की मदद से 67 रन की बेहद महत्वपूर्ण पारी खेली तो वहीं सातवें नंबर पर बल्लेबाजी करने आए वाशिंगटन सुंदर ने 144 गेंदों पर 62 रन की असाधारण पारी खेली और अपनी पारी के दौरान 7 चौके व एक छक्का भी लगाया। इनके बाद कोई भारतीय बल्लेबाज कुछ खास नहीं कर पाया और पारी 336 रन पर पारी सिमट गई।


शार्दुल ठाकुर ऑस्ट्रेलिया में टेस्ट क्रिकेट में आठवें नंबर पर बल्लेबाजी करते हुए तीसरा सबसे बड़ा स्कोर बनाने में कामयाब रहे। इस मामले में अनिल कुंबले पहले और रवींद्र जडेजा दूसरे नंबर पर हैं।

ऑस्ट्रेलिया में टेस्ट क्रिकेट में 8वें नंबर पर सबसे ज्यादा रन बनाने वाले तीन भारतीय बल्लेबाज-

87 – अनिल कुंबले (2008)

81 – रवींद्र जडेजा (2019)

67 – शार्दुल ठाकुर (2021)


वाशिंगटन सुंदर ने इस मैच के जरिए टेस्ट में डेब्यू भी किया और अपनी बल्लेबाजी व गेंदबाजी दोनों से प्रभावित किया। उन्होंने पहली पारी में 3 विकेट भी लिए और फिर 62 रन की बेहद उपयोगी पारी खेली। ऑस्ट्रेलिया में टेस्ट में डेब्यू करते हुए उन्होंने भारत की तरफ से दूसरा सबसे बड़ा स्कोर बनाया। इस मामले में पहले नंबर पर मयंक अग्रवाल हैं।

ऑस्ट्रेलिया में टेस्ट डेब्यू करते हुए सबसे ज्यादा रन बनाने वाले तीन भारतीय बल्लेबाज-

76 – मयंक अग्रवाल

62 – वाशिंगटन सुंदर

51 – दत्तु पाडकर

भारत की तरफ से इन दोनों बल्लेबाजों के अलावा रोहित शर्मा ने 44 रन, शुभमन गिल ने 7 रन, चेतेश्वर पुजारा ने 25 रन, अजिंक्य रहाणे ने 37 रन, मयंक अग्रवाल ने 38 रन, रिषभ पंत ने 23 रन, नवदीप सैनी ने 5 रन, मो. सिराज ने 13 रन व टी नटराजन ने नाबाद एक रन की पारी खेली। वहीं ऑस्ट्रेलिया की तरफ से जोस हेजलवुड ने पांच, स्टार्क व कमिंस ने दो-दो जबकि नाथन लियोन ने एक विकेट लिए।