भारतीय ड्रेसिंग रूम में इस खास वजह से पिता का बैग लेकर आए थे क्रुणाल पांड्या

86


इंग्लैंड के खिलाफ पहले वनडे में पदार्पण करके सबसे तेज अर्धशतक जड़ने का रिकॉर्ड बनाने वाले भारतीय ऑलराउंडर क्रुणाल पांड्या ड्रेसिंग रूम में अपने पिता हिमांशु का ट्रैवल बैग लेकर आए थे ताकि उन्हें अपने करीब महसूस कर सके।

बुधवार को अपना 30वां जन्मदिन मनाने वाले क्रुणाल पांड्या और उनके छोटे भाई हार्दिक पांड्या ने अपने पिता के साथ करीबी रिश्ते के बारे में बात की। उनके पिता का जनवरी में दिल का दौरा पड़ने से निधन हो गया था। क्रुणाल ने बीसीसीआइ की वेबसाइट पर कहा कि उनका 16 तारीख को सुबह निधन हुआ और मैं उस दिन सैयद मुश्ताक अली ट्रॉफी खेल रहा था। वह अपने कपड़ों का बैग रात में तैयार रखते थे। उनके जूते, पतलून, कमीज और टोपी सब कुछ। मैंने मैच से पहले वही किया। मैं बड़ौदा से उनका बैग यहां लेकर आया। मुझे पता है कि वह हमारे साथ नहीं हैं, लेकिन वह उस मैच में वही कपड़े पहनते। मैने उस बैग को ड्रेसिंग रूम में रखा।


मैच के बाद आधिकारिक प्रसारक से बात करते हुए क्रुणाल भावुक हो गए थे जिसके बाद हार्दिक ने उन्हें संभाला। क्रुणाल ने हार्दिक से कहा कि मैंने यहां तक आने के लिए बहुत मेहनत की है। सिर्फ खेल ही नहीं बल्कि खुराक, फिटनेस सब कुछ और यह सब उनकी वजह से हुआ। उनका आशीर्वाद हमारे साथ है। मेरे और तुम्हारे लिए यह बेहद भावुक पल है। मुझे भारतीय टीम की कैप तुमसे मिली। आपको बता दें कि, क्रुणाल पांड्या ने इंग्लैंड के खिलाफ शानदार बल्लेबाजी करते हुए ताबड़तोड़ नाबाद 58 रन बनाए और फिर एक विकेट भी हासिल किया।


भारत को इस मैच में मेजबान टीम पर 66 रन से जीत मिली और टीम इंडिया ने तीन मैचों की वनडे सीरीज में 1-0 की बढ़त बना ली। अब दोनों देशों के बीच दूसरा वनडे मुकाबला पुणे में ही 26 मार्च को खेला जाएगा। इस मैच में चोटिल रोहित शर्मा व श्रेयस अय्यर नहीं खेलेंगे।

Get real time updates directly on you device, subscribe now.