ब्लड शुगर कंट्रोल करने के लिए डाइट में जरुर शामिल करें नींबू का अचार

0 41


खराब दिनचर्या और अनुचित खानपान के चलते डायबिटीज एक सामान्य बीमारी बनती जा रही है। इस बीमारी में रक्त में शर्करा स्तर बहुत बढ़ जाता है ।वहीं, अग्नाशय से इंसुलिन हार्मोन निकलना बंद हो जाता है। शर्करा स्तर बढ़ने से व्यक्ति को बार-बार पेशाब लगता है। साथ ही भूख और प्यास भी अधिक लगती है। जबकि, अग्नाशय से इंसुलिन नहीं निकलने के चलते शरीर को ऊर्जा प्राप्त नहीं हो पाती है। डायबिटीज एक लाइलाज बीमारी है, जो ताउम्र साथ रहती है। लापरवाही बरतने पर यह जानलेवा साबित हो सकती है। प्राथमिक स्तर पर डायबिटीज से कई अन्य बीमारियां भी जन्म लेती हैं। इनमें हृदय रोग, अल्सर,आंखों की परेशानी और स्ट्रोक आदि बीमारियां शामिल हैं। गंभीर स्थिति में व्यक्ति कोमा में जा सकता है। अत: इस बीमारी को हल्के में बिल्कुल न लें। इस बीमारी में परहेज की विशेष जरूरत होती है। खासकर खानपान में मीठे चीजों को नजरअंदाज करें। इसके अतिरिक्त खाने में नींबू का अचार को जोड़ सकते हैं। कई शोध के जरिए पता चला है कि नींबू का अचार ब्लड शुगर को कंट्रोल करने में सहायक होता है। आइए जानते हैं कि शोध क्या कहती है-


नींबू का अचार

कब्ज, बदहजमी, गैस समेत पेट की सभी बीमारियों में नींबू के अचार का सेवन करना फायदेमंद होता है। इसके सेवन से तत्काल आराम मिलता है। दादी-नानी हमेशा पेट दर्द और पेट संबंधी बीमारियों में नींबू का अचार खाने की सलाह देते हैं। इसमें कई औषधीय गुण पाए जाते हैं जो सेहत के लिए फायदेमंद होते हैं। इसमें कॉपर, पोटेशियम, आयरन, विटामिन-ए, सी कैल्शियम, प्रोबायोटिक बैक्टीरिया और एंजाइम्स समेत कई अन्य पोषक तत्व पाए जाते हैं, जो कई बीमारियों में फायदेमंद होते हैं।


researchgate.net पर छपी एक शोध में नींबू के अचार के फायदे को बताया गया है। इस शोध में कहा गया है कि डायबिटीज के मरीज बिना किसी दुविधा के नींबू के अचार का सेवन कर सकते हैं। इसमें डाइटरी फाइबर पाया जाता है और फाइबर के सेवन से ब्लड शुगर कंट्रोल में रहता है। इसके लिए डायबिटीज के मरीज नींबू के अचार का सेवन कर सकते हैं। यह शोध 2007 की है, जिसमें डायबिटीज के मरीजों को नींबू के अचार के सेवन से होने वाले फायदे के बारे में बताया गया है। इसके लिए डायबिटीज के मरीज ब्लड शुगर कंट्रोल करने के लिए नींबू के अचार का सेवन कर सकते हैं

डिस्क्लेमर: स्टोरी के टिप्स और सुझाव सामान्य जानकारी के लिए हैं। इन्हें किसी डॉक्टर या मेडिकल प्रोफेशनल की सलाह के तौर पर नहीं लें। बीमारी या संक्रमण के लक्षणों की स्थिति में डॉक्टर की सलाह जरूर लें।