बहनों ने अपने भाइयों को टीका लगाकर उनकी लंबी आयु की कामना की

0 190

भईया दूज पर्व मनाया गया। सुबह से ही घरों में चहल-पहल नजर आई। इस मौके पर बहनों ने अपने भाई को टीका लगाकर उनकी लंबी आयु की कामना की। बंगाली समुदाय में बहनों ने ओस की बूंदों में चंदन, काजल मिलाकर भाई को फोटा लगाया।

भाइयेर कपाले दिलाम फोटा यम दुआरे पड़ल कांटा यमुना देय यम के फोटा यमुनार जल होय जतो आमार भाइयेर आयु हो ततो गीत को गाते हुए बहनों ने भाई की लंबी उम्र की कामना की। नेपाली समुदाय में बहनों ने अखरोट की बलि देकर भाई की लंबी उम्र की कामना की। अखरोट की बलि देने का मतलब है भाई पर आने वाली सब तकलीफ, बाधाएं दूर हो जाए। इसी क्रम में बहनें सुबह से ही भाइयों की लंबी आयु की कामना करते नजर आई।

बिहारी समुदाय में बहनों ने भाइयों को चना खिलाकर उनकी समृद्धि की कामना की। बहनों ने बताया कि चना खिलाने से तात्पर्य है कि उनका भाई बज्र के समान कठोर बने। ताकि उनपर आने वाली सारी बाधाएं स्वत: ही दूर भाग जाए। वे हमेशा स्वस्थ रहे। जीवन खुशियों से भरा हो। बिहार में पान के पत्ते हाथ पर रख कर बहने भाई की न्योता लेने के साथ भाइयों के लंबी आयु की कामना करती है।

मारवाड़ी समुदाय और पंजाबी समुदाय में भी बहनों ने भाईयों को टीका लगाकर उनकी दीर्घायु की कामना की। इस मौके को लेकर सुबह से ही घरों में रौनक नजर आई। साथ ही उपहारों का आदान-प्रदान चलता रहा। बहनें भाइयों के घर उपहार लेकर पहुंची। वहीं भाइयों ने भी बहनों को शगुन के तौर पर नगर राशी और उपहार दिया। इसके साथ ही मंदिरों में पूजा-अर्चना की गई। जहां पर सुख-समृद्धि की कामना की गई। बंगाली समुदाय में बहनों ने ओस की बूंदों में चंदन, काजल मिलाकर भाई को फोटा लगाया।