बस एक कॉल कीजिए, घर तक आक्सीजन सिलेंडर पहुंचाने की जिम्मेदारी उठाएगा जमीयत उलेमा-ए-हिंद, 24 घंटे सेवा उपलब्ध

0 94


कोरोना के कोहराम के बीच जमीयत उलेमा-ए-हिंद ने खिदमत ए खल्क (मानव सेवा) शुरू कर दी है। जमीयत एक फोन काल पर दिन हो चाहे रात दिल्ली के हर एक कोने तक कोरोना संक्रमितों को आक्सीजन सिलेंडर पहुंचाएगी, चाहे वह जिस धर्म और जाति के हो।
इतना ही नहीं संक्रमितों को अस्पताल लाने ले जाने के लिए जमीयत ने एंबुलेंस की भी व्यवस्था की है, एक एंबुलेंस लोक नायक अस्पताल के बाहर खड़ी रहेगी। जमीयत की यह दोनों सेवाएं निश्शुल्क रहेंगी, इसके लिए 9654709192 और 9868586545 नंबर जारी किए हैं।
जमीयत ने मौलाना जियाउल्लाह कासमी को इसका संयोजक बनाया है। मौलाना जियाउल्लाह ने कहा कि कोरोना ने बड़ी संख्या में फिर से लोगों को अपनी चपेट में लेना शुरू कर दिया है। एक दिन में कई कई मौतें हो रही हैं। इस मुश्किल भरे दौर में जमीयत जरूरतमंद और कोरोना संक्रमित मरीजों की मदद के लिए आगे आया है। उन्होंने कहा कि जमीयत यूथ क्लब के दस नौजवान युवाओं की एक विशेष टीम बनाई बनाई है, इन्हें एक अस्पताल से प्रशिक्षण दिलाया गया है। किस तरह से संक्रमित मरीजों की मदद की जा सकती है।


11 अप्रैल से जमीयत ने अपनी आक्सीजन सिलेंडर और एंबुलेंस की सेवा शुरू की है। उन्होंने कहा कि कोरोना होने पर संक्रमित व्यक्ति के शरीर में आक्सीजन की मात्रा तेजी से घटती है, ऐसे में उसे आक्सीजन की सख्त जरूरत होती है। अस्पतालों में मरीजों की संख्या बढ़ती जा रही है, बहुत से लोग अपने घरों में क्वारंटाइन हैं और आक्सीजन की परेशानी से जूझ रहे है।


ऐसे लोगों तक जमीयत की टीम सिलेंडर पहुंचाएगी, जितने बार मरीज को सिलेंडर की आवश्यता पड़ेगी उतनी बार उस तक सिलेंडर पहुंचाया जाएगा। उन्होंने कहा कि जिस वक्त राजधानी में कोरोना फैला था, तब एंबुलेंस की भारी कमी देखी गई थी। फिर से वहीं परेशानी लोगों को न झेलनी पड़े, इसलिए जमीयत ने अपनी एंबुलेंस मरीजों की सेवा में लगा दी हैं।