बंगाल समेत 5 राज्यों में शांतिपूर्ण चुनाव कराने की तैयारियां, 25 हजार केंद्रीय बल होंगे तैनात

0 14


चार राज्यों और एक केंद्र शासित प्रदेश में कुछ महीने बाद होने वाले विधानसभा चुनाव के दौरान केंद्रीय सशस्त्र पुलिस बल (सीएपीएफ) के कम से कम 25,000 जवान तैनात किए जाएंगे। अधिकारियों ने शनिवार को बताया कि गृह मंत्रालय ने विधानसभा चुनाव में सीआरपीएफ, बीएसएफ, आइटीबीपी, सीआइएसएफ और एसएसबी की 250 कंपनियों को तैनात करने का निर्देश दिया है। 75 कंपनियों को स्टैंडबाई मोड में रखा जाएगा और जिस राज्य में उनकी जरूरत होगी, वहां उन्हें तैनात किया जाएगा। बंगाल, असम, तमिलनाडु, केरल और पुडुचेरी में इस साल अप्रैल-मई में विधानसभा चुनाव होने की उम्मीद है।

इस बीच, बंगाल में विधानसभा चुनाव की घोषणा से पहले ही शनिवार को सीएपीएफ की 12 कंपनियां पहुंच गई। अधिकारियों ने बताया कि दो कंपनियां रेलगाड़ी से दुर्गापुर पहुंचीं, जिनमें से एक कंपनी को बीरभूम और एक कंपनी को बांकुडा जिले में भेजा गया है। वहीं एक कंपनी बर्धमान पहुंची है।


बंगाल में सुरक्षा पर विशेष जोर

इस साल पांच राज्यों में चुनाव होने वाले हैं। चुनाव प्रक्रिया को शांतिपूर्ण ढंग से पूरा कराए जाने के लिए राज्यों में केंद्रीय सशस्त्र पुलिस बलों (CAPFs) की तैनाती शुरू हो गई है। शनिवार को केंद्रीय बलों ने राज्यों में पहुंचने की प्रक्रिया शुरू कर दी। चुनाव आयोग पश्चिम बंगाल (West Bengal) में सुरक्षा को लेकर खासा चिंतित और सतर्क नजर आ रहा है। चुनाव आयोग ने बंगाल में सीएपीएफ की 125 कंपनियां भेजने का फैसला किया है।


समाचार एजेंसी एएनआइ के अनुसार, पांच राज्यों के लिए सीएपीएफ की कंपनियां शनिवार को रवाना हो गईं। न्यूज एजेंसी से मिली जानकारी के अनुसार, तमिलनाडु (Tamil Nadu) में 45, असम (Assam) में 40, पुडुचेरी (Puducherry) में 10 और केरल (Kerala) में 30 कंपनियां भेजी जा रहीं हैं। हालांकि, इन सभी पांच राज्यों में से किसी भी राज्य में चुनाव तारीखों का ऐलान अब तक नहीं हुआ है। चुनाव आयोग इन राज्यों में चुनावी अधिकारियों की तैनाती को लेकर एडवाइजरी पहले ही जारी कर चुका है।