फ्लैट के नाम पर करोड़ों की ठगी में कंपनी का निदेशक गिरफ्तार, नोएडा में की थी कई लोगों से ठगी

0 62


दिल्ली पुलिस की आर्थिक अपराध शाखा (इओडब्ल्यू) ने नोएडा स्थित परियोजनाओं में फ्लैट देने के नाम पर 12 करोड़ की ठगी में एक कंपनी के निदेशक को गिरफ्तार किया है। आरोपित की पहचान दिवाकर शर्मा के रूप में हुई है। आरोपित की दो कंपनी ने नोएडा स्थित अलग-अलग परियोजना के नाम पर कंपनियों और लोगों से ठगी की थी। पुलिस अब कंपनी के अन्य पदाधिकारियों की तलाश में जुट गई है।

पुलिस कंपनी के अन्य पदाधिकारियों की कर रही है तलाश

इओडब्ल्यू के ज्वाइंट सीपी डॉ. ओ.पी. मिश्रा ने बताया कि अनिल अग्रवाल ने वर्ष 2017 में ठगी की शिकायत दर्ज कराई थी। उन्होंने बताया था कि शुभकामना बिल्डटेक ने नोएडा सेक्टर-137 में एक परियोजना शुरु की थी। इस कंपनी का मालिक दिवाकर शर्मा है। उन्होंने इस परिजोयना के 35 फ्लैट के लिए कंपनी के मालिक को सात करोड़ रुपये दिए थे। लेकिन, बाद में कंपनी ने न तो उन्हें फ्लैट दिए और न ही फ्लेट की दी हुई राशि लौटाई। वहीं, शुभकामना लॉड्स नाम की कंपनी द्वारा भी नोएडा सक्टर-79 में फ्लैट के नाम पर ठगी की शिकायत पुलिस को मिली। कंपनी ने निवेशकों से लिए रुपये को अन्य खाते में स्थानांतरित कर परियोजना को बीच में ही अधूरा छोड़ दिया था।


यही नहीं शुभकामना बिल्डटेक प्राइवेट लिमिटेड और किंडल डेवलेपर्स प्राइवेट लिमिटेड के निदेशकों और अधिकारियों ने चुनमुन स्टोर्स प्राइवेट लिमिटेड के मालिक शरद सुरी से भी अपनी परियोजनाओं में निवेश करा 20 करोड़ रुपये हड़प लिए थे। इस संबंध में इओडब्लू में अलग से इस वर्ष मुकदमा दर्ज किया गया था। वहीं, इंस्पेक्टर धर्मेंद्र कुमार की टीम ने छानबीन शुरू की और कंपनी के 26 बैंक खातों की पहचान कर उनके संचालन को रोक दिया।


छानबीन में पता चला कि दो कंपनियों ने साजिश के तहत सुनियोजित तरीके से निवेशकों को फंसा उनसे ठगी की। जिसके बाद कंपनी के निदेश दिवाकर शर्मा की तलाश शुरू की गई और पुलिस ने चार दिसंबर को अक्षरधाम मंदिर स्थित कॉमनवेल्थ गेम विलेज के समीप से आरोपित को गिरफ्तार कर लिया। वहीं, कंपनियों के फरार अन्य निदेशक और पदाधिकारी की तलाश की जा रही है।