प्रवर्तन निदेशालय ने यस बैंक घोटाले में आरोप पत्र किया दायर, जानें- किन लोगों के नाम हैं दर्ज

0 44


प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने यस बैंक के करीब चार सौ करोड़ रुपये से अधिक के कर्ज का दुरुपयोग करने के मामले में मुंबई के रियल स्टेट ग्रुप ओंकार रिटेलर्स एंड डेवलेपर्स और अन्य लोगों के खिलाफ आरोप पत्र दायर कर दिया है। केंद्रीय जांच एजेंसी ने बयान दायर करके कहा कि मुंबई की एक विशेष अदालत के समक्ष प्रिवेंशन ऑफ मनी लांड्रिंग एक्ट (PMLA) की विभिन्न धाराओं के तहत अभियोजन ने शिकायत (आरोपपत्र) दायर किया है।

आरोप पत्र में ओंकार रिटेलर्स एंड डेवलेपर्स के चेयरमैन कमल किशोर गुप्ता और प्रबंध निदेशक बाबू लाल वर्मा और फिल्म अभिनेता व निर्माता सचिन जोशी (वाइकिंग ग्रुप के प्रोमोटर) और उनकी कंपनियों के नाम दर्ज हैं। इससे पहले ईडी ने ओंकार ग्रुप के प्रोमोटरों के परिसरों पर छापेमारी की थी और इस मामले में तीन आरोपितों को भी गिरफ्तार किया था।

केंद्रीय जांच एजेंसी ने महाराष्ट्र में औरंगाबाद पुलिस की एफआइआर के आधार पर यस बैंक कर्ज घोटाले में गुप्ता और वर्मा के खिलाफ धोखाधड़ी और कर्ज की रकम का दुरुपयोग करने के आरोप लगाए हैं। उन्होंने 410 करोड़ रुपये की कर्ज की रकम को आनंदनगर एसआरए (स्लम रीहैबिलिटेशन अथारिटी) के पुनर्निर्माण में लगानी थी। करार के मुताबिक यह रकम वडाला के आनंदनगर रीहैब बिल्डिंग के निर्माण पर खर्च करनी थी। लेकिन बिल्डर ने यह रकम अपनी खोखा कंपनियों के हवाले कर दी थी। इन 410 करोड़ रुपये के अलावा 80 करोड़ रुपये वाइकिंग ग्रुप और उसके मालिक जोशी को पहुंचा दी गई थी।