पीएम नरेंद्र मोदी ने इंडिया-ऑस्ट्रेलिया सर्कुलर इकोनॉमिक हैकेथॉन को किया संबोधित, इन बातों पर दिया जोर

0 40


प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शुक्रवार को इंडिया-ऑस्ट्रेलिया सर्कुलर इकोनॉमिक हैकेथॉन को संबोधित किया। उन्होंने कहा कि इस हैकेथॉन में भारत और ऑस्ट्रेलिया की ओर से नए तरह के समाधान पेश किए गए। पीएम मोदी ने कहा कि इन नवाचारों से हमें सर्कुलर इकोनॉमिक सॉल्यूशन्स को ढूंढने में मदद मिलेगी। हमें अब इन विचारों को अमल में लाने के उपायों के बारे में सोचना चाहिए।

पीएम मोदी ने अपने संबोधन की शुरुआत में कहा, ”पिछले साल जून में मैंने और ऑस्ट्रेलिया के प्रधानमंत्री (स्कॉट) मॉरिशन ने सर्कुलर इकोनॉमी पर एक हैकेथॉन के आयोजन की संभावनाओं पर चर्चा की। मुझे इस बात की खुशी है कि हमारे आइडिया ने इतनी जल्दी हकीकत का रूप ले लिया। मैं इस संयुक्त पहल को समर्थन देने के लिए ऑस्ट्रेलियाई प्रधानमंत्री मॉरिशन को धन्यवाद देता हूं।”

पीएम मोदी ने कोविड-19 महामारी के बावजूद शानदार समर्पण दिखाने के लिए सभी प्रतिभागियों की भी सराहना की। उन्होंने कहा, ”मेरे लिए आप सभी विजेता हैं।”

उन्होंने कहा, ”हमें यह कभी नहीं भूलना चाहिए कि हम इस धरती पर मौजूद हर चीज के मालिक नहीं हैं बल्कि हम अगली पीढ़ियों के लिए इसके ट्रस्टी भर हैं। अपने प्रोडक्शन से जुड़ी प्रक्रिया को अधिक एफिसिएंट बनाना और कम प्रदूषण फैलाने वाला बनाना भर ही काफी नहीं है।”

प्रधानमंत्री ने कहा कि इस बात से फर्क नहीं पड़ता कि कोई कितना धीमा या तेज ड्राइव कर रहा है लेकिन अगर दिशा ही गलत है तो वह व्यक्ति गलत गंतव्य पर ही पहुंचेगा। ऐसे में हमें निश्चित रूप से सही दिशा तय करनी होगी। हमें अपने खपत के पैटर्न पर ध्यान देना होगा और इस बात पर विचार करना होगा कि हम ‘इकॉलॉजिकल इम्पैक्ट’ में किस प्रकार कमी ला सकते हैं। यहां सर्कुलर इकोनॉमी के विचार की जरूरत पड़ती है। यह हमारी कई तरह की चुनौतियों के समाधान की दिशा में अहम कदम साबित हो सकता है।