दिल्ली सरकार के छह अस्पताल कोरोना के इलाज से किए गए मुक्त

0 51


कोरोना के मामलों में कमी आने के बाद दिल्ली सरकार के छह अस्पताल कोरोना के इलाज से मुक्त कर दिए गए हैं। स्वास्थ्य विभाग ने अब इन अस्पतालों को गैर कोविड अस्पताल घोषित कर दिया है। जिसमें जीटीबी, डीडीयू, दीपचंद बंधु अस्पताल, संजय गांधी स्मारक अस्पताल, आचार्य भिक्षु अस्पताल व सत्यवादी राजा हरिश्चंद्र अस्पताल शामिल है। इसलिए इन अस्पतालों में अब कोरोना के मरीजों का इलाज नहीं होगा। सिर्फ विभिन्न बीमारियों से पीड़ित गैर कोरोना मरीजों का इलाज किया जाएगा।

स्वास्थ्य विभाग ने अभी पांच अस्पतालों में कोरोना के इलाज के लिए सिर्फ 1470 बेड आरक्षित रखने का आदेश दिया है। उल्लेखनीय है कि नवंबर में कोरोना का संक्रमण चरम पर होने के कारण दिल्ली के अस्पतालों में कोरोना के इलाज के लिए करीब 19 हजार बेड आरक्षित किए गए थे। कोरोना का संक्रमण कम होने के साथ अस्पतालों में बेड भी धीरे-धीरे कम किए जा रहे हैं। इस क्रम में अभी सरकारी व व निजी अस्पतालों में कोरोना के इलाज के लिए 6265 बेड आरक्षित है। जिसमें से सिर्फ 581 बेड भरे हुए हैं और 5684 बेड खाली है।


यही वजह है कि दिल्ली सरकार के स्वास्थ्य विभाग ने अपने छह अस्पतालों को कोरोना के इलाज से अलग करने का आदेश दिया है। इससे कुल आरक्षित बेड की संख्या और भी कम हो जाएगी। जीटीबी, डीडीयू व संजय गांधी स्मारक अस्पताल दिल्ली सरकार के बड़े अस्पतालों में शामिल हैं। जीटीबी अस्पताल की बेड क्षमता 1500 है। यह दिल्ली सरकार का दूसरा सबसे बड़ा अस्पताल है। इससे गैर कोरोना अस्पताल घोषित किए जाने से अन्य बीमारियों से पीड़ित मरीजों को फायदा होगा। हालांकि, गैर कोविड अस्पताल घोषित जीटीबी में अभी कोरोना के 15, दीपचंद बंधु में नौ, संजय गांधी स्मारक अस्पताल में सात व सत्यवादी राजा हरिश्चंद्र अस्पताल में एक मरीज भर्ती है।


एम्स के मुख्य अस्पताल में भी घटाए गए कोरोना के बेड

एम्स हरियाणा के झज्जर स्थित एनसीआइ (राष्ट्रीय कैंसर संस्थान) को कुछ दिन पहले ही कोरोना के इलाज से अगल कर चुका है। एम्स के मुख्य अस्पताल में भी कोरोना के लिए आरक्षित बेड 43 से घटाकर 11 कर दिया है। फिलहाल मुख्य अस्पताल में कोरोना के एक भी मरीज नहीं हैं। सिर्फ एम्स ट्रॉमा सेंटर में अभी 59 मरीज भर्ती हैं।


दिल्ली सरकार के अस्पतालों में कोरोना के इलाज के लिए आरक्षित बेड

अस्पताल—- बेड

लोकनायक— 300

राजीव गांधी सुपर स्पेशियलिटी—– 500

अंबेडकर अस्पताल— 50

बुराड़ी —– 320

अंबेडकर नगर—- 300


कुल— 1470