दिल्ली विश्वविद्यालय के कुछ कॉलेज के छात्रों को फीस हो सकती है माफ, शर्त भी जानिये

0 72


कोरोना काल में डीयू के छात्र आर्थिक परेशानियों से जूझ रहे हैं। कई छात्र वार्षिक शुल्क जमा करने में असमर्थता जता चुके हैं। डीयू के कई कॉलेज छात्रों की मदद के लिए आगे आए हैं। इसी कड़ी में आचार्य नरेंद्र देव कॉलेज ने सक्षम योजना की शुरुआत की है। योजना के तहत जरूरतमंद छात्रों की ना केवल फीस माफ की जाएगी बल्कि उनकी आर्थिक मदद की जाएगी। यही नहीं कॉलेज ऐसे छात्रों को किताबें भी देगा।

कॉलेज प्राचार्य डॉ. रवि टुटेजा ने बताया कि कॉलेज छात्रों के साथ है। हम मुश्किल वक्त में छात्रों की मदद को तत्पर हैं। छात्रों को गूगल फॉर्म भरने के लिए दिया गया है। छात्रों को अभिभावकों की वार्षिक आय संबंधी दस्तावेज जमा करना होगा। जो छात्र जरूरतमंद हैं, उनकी मदद की जाएगी। इस बाबत फेलोशिप कमेटी भी गठित की गई है, जो दस्तावेजों का अध्ययन कर यह सुनिश्चित करेगी कि सक्षम योजना प्रभावी हो। सक्षम योजना के तहत कॉलेज चार प्रकार से मदद करेगा। यह छात्रों पर निर्भर है कि वह कौन सा विकल्प चुनते हैं।


जरूरतमंद छात्रों की पूरी फीस होगी माफ
छात्रों को दस महीने तक प्रतिमाह एक हजार रुपये दिए जाएंगे।
बुक बैंक बनाकर छात्रों को पाठ्यक्रम की किताबें देकर मदद की जाएगी।
एक शैक्षणिक सत्र में स्टेशनरी व फोटोकॉपी के लिए 3 हजार रुपये की मदद भी दी जाएगी।
अन्य कॉलेज भी कर रहे कोशिश

मिरांडा हाउस कॉलेज छात्राओं को विभिन्न छात्रवृत्तियों के तहत 7500 रुपये की आर्थिक मदद करेगा।
हंसराज कॉलेज में छात्रों की आर्थिक मदद की प्रक्रिया शुरू हो चुकी है।
शिवाजी कॉलेज ने 3700 स्नातक व स्नातकोत्तर छात्रों की विभिन्न तरह की मदद की। साथ ही उनका 6350 रुपये शुल्क माफ कर दिया है।
राजधानी कॉलेज ने प्रति छात्र 2010 रुपए माफ करने का निर्णय लिया है।
लक्ष्मीबाई कॉलेज ने 100 छात्राओं की पूरी फीस माफ की। इसके अलावा सभी छात्राओं को किश्त में फीस जमा करने की सुविधा दी है।
लेडी श्रीराम कॉलेज ने शुल्क में कमी की है तथा छात्राओं को दो किश्तों में शुल्क जमा करने की सहुलियत दी है।
हिंदू कॉलेज में भी कॉलेज प्रबंधन जरूरतमंद छात्रों की सूची तैयार कर वार्षिक शुल्क जमा करने में मदद करेगा।
रामानुजन कॉलेज छात्रों के इंटरनेट के खर्च का एक बड़ा हिस्सा वहन करने में लगा है।