दिल्ली के वसंत कुंज के पार्षद मनोज महलावत को सीबीआइ ने किया गिरफ्तार

0 61


साउथ दिल्ली के वसंत कुंज के नगर निगम पार्षद मनोज महलावत को सीबीआइ ने गिरफ्तार किया है। ये गिरफ्तारी कंस्ट्रक्शन मामले में घूस लेने के आरोप में हुई है। वहीं, मनोज महलावत को भाजपा ने पार्टी से निकाल दिया है। जैसे ही पार्टी को इसकी सूचना मिली भाजपा ने मनोज को पार्टी से निकालने में देरी नहीं की। मिली जानकारी के अनुसार, सीबीआइ की टीम जल्द ही राउज एवेन्यू में पार्षद को पेश करेगी।

बताया जा रहा है कि पार्षद मनोज महलावत की शिकायत सीबीआइ से की गई थी। जिसके बाद मामले की गंभीरता को देखते हुए सीबीआइ ने उन्हें शुक्रवार को गिरफ्तार कर लिया।

मनोज तिवारी ने मानहानि मामले में दायर की याचिका

वहीं, भाजपा सांसद मनोज तिवारी ने हाई कोर्ट में याचिका दायर कर निचली अदालत की तरफ से मानहानि के मामले में भेजे गए समन को रद करने की मांग की है। भ्रष्टाचार का आरोप लगाने पर उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने शिकायत दर्ज कराई थी, जिस पर यह समन तिवारी व अन्य भाजपा नेताओं को भेजा गया था। याचिका पर न्यायमूर्ति अनु मल्होत्रा की पीठ ने मनोज तिवारी को मामले में कुछ दस्तावेज व कोर्ट के आदेश की प्रति पेश करने का निर्देश देते हुए सुनवाई सात दिसंबर तक के लिए स्थगित कर दी। तिवारी की तरफ से पेश हुई अधिवक्ता ¨पकी आनंद ने कहा कि निचली अदालत द्वारा आदेश गलत है, इसे रद किया जाना चाहिए।


दिल्ली सरकार के स्टैंडिंग काउंसल राहुल मेहरा ने कहा कि तिवारी की तरफ से दाखिल किए गए दस्तावेज पढ़ने योग्य नहीं हैं। इसलिए उन्हें टाइप कॉपी दाखिल करने का निर्देश दिया जाए। इस मामले में सांसद तिवारी के अलावा सांसद हंस राज हंस, सांसद प्रवेश वर्मा, विजेंद्र गुप्ता, दिल्ली के विधायक मनजिंदर सिंह सिरसा और भाजपा प्रवक्ता हरीश खुराना को राउज एवेन्यू कोर्ट ने समन जारी किया था। मनीष सिसोदिया ने 20 जुलाई 2019 को भाजपा नेताओं के खिलाफ याचिका दायर की थी। इसमें कहा था कि भाजपा नेताओं ने दिल्ली के सरकारी स्कूलों की कक्षाओं के निर्माण में भ्रष्टाचार करने का उन पर झूठा आरोप लगाकर उनकी छवि धूमिल की है।