ट्रैक्टर रैली के जरिए किसानों ने किया शक्ति प्रदर्शन

0 76



पिछले लगभग डेढ़ महीने से किसान केंद्र के तीन कृषि कानूनों के खिलाफ दिल्ली की सीमाओं पर अडिग हैं। वहीं सरकार भी कदम पीछे नहीं करना चाहती। ऐसे में विरोध में किसानों का हल्लाबोल जारी है। सरकार के साथ किसानों की सात दौर की वार्ता बेनतीजा रही थी, इसलिए किसानों ने अपने आंदोलन को तेज कर दिया है और आज राजधानी की सीमाओं पर ट्रैक्टर मार्च निकालेंगे। गाजियाबाद के यूपी गेट पर प्रदर्शन कर रहे किसान आज यानी गुरुवार सुबह 135 किमी लंबे ईस्टर्न पेरिफेरल एक्सप्रेस-वे पर गणतंत्र दिवस के लिए अपने ‘ट्रैक्टर मार्च’ का ‘ड्रेस रिहर्सल’ करेंगे।

इसके कारण NH-9 सहित दो नेशनल हाईवे से गुजरने वाले लोगों पर इस रिहर्सल का असर होने की संभावना है। हालांकि, योगेंद्र यादव ने कहा कि ये किसान आज दिल्ली में एंटर नहीं करेंगे। इधर, भारतीय राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण के अधिकारियों ने कहा कि ईस्टर्न पेरिफेरल एक्सप्रेस-वे पर ट्रैक्टरों की अनुमति नहीं है।

भीषण ठंड, बारिश के बावजूद पंजाब, हरियाणा और देश के कुछ अन्य भागों के हजारों किसान पिछले 40 दिनों से ज्यादा समय से दिल्ली की अलग-अलग सीमाओं पर डटे हुए हैं। किसान कृषि कानूनों को निरस्त करने, फसलों के लिए न्यूनतम समर्थन मूल्य पर कानूनी गारंटी देने तथा दो अन्य मुद्दों को लेकर प्रदर्शन कर रहे हैं। प्रदर्शन कर रहे किसान संगठनों और तीन केंद्रीय मंत्रियों के बीच सोमवार को हुई बैठक बेनतीजा रही थी क्योंकि किसान तीनों कानूनों को निरस्त करने की अपनी मांग पर डटे हुए हैं। राष्ट्रीय राजधानी की सीमाओं पर किसानों के आने के बाद से दिल्ली यातायात पुलिस अपने आधिकारिक ट्विटर हैंडल से शहर में सड़कों के बंद होने के बारे में लोगों को लगातार सूचनाएं दे रही है।

LIVE UPDATES:

  • यूपी गेट पर भाकियू (अम्बावता) गुट ने 10 जनवरी को महापंचायत की घोषणा की। आज यूपी गेट पर किसानों ने सरकार की बुद्धि-शुद्धि के लिए हवन भी किया है।
  • हरियाणा : 26 जनवरी को किसानों की परेड मार्च में भाग लेने के लिए जींद में एक महिला ट्रैक्टर चलाना सीख रही है। महिला ने कहा कि 26 जनवरी को दिल्ली पहुंचेंगे। अगर सरकार नहीं मानेगी तो ट्रैक्टर-ट्रॉली लेकर परेड करेंगे, जिसके लिए हम ट्रेनिंग ले रहे हैं। हम बिल्कुल पीछे नहीं हटेंगे।
  • नोएडा: भारतीय किसान यूनियन (भानू) ने केंद्र सरकार द्वारा किसान कानूनों के खिलाफ किसानों के विरोध प्रदर्शन को जारी रखते हुए महामाया फ्लाईओवर से चिल्ला बॉर्डर तक ट्रैक्टर मार्च किया।
  • -गुरुग्राम : कृषि कानूनों के खिलाफ दिल्ली की सीमाओं पर डटे किसानों के सर्मथन में फर्रुखनगर क्षेत्र के किसानों ने हाथों में किसान यूनियन का ध्वज थामे ट्रैक्टर मार्च निकाला और करीब दो घंटे तक पातली गांव की सीमा क्षेत्र में केएमपी सुपर एक्सप्रेस-वे पर शांति पूर्वक मार्च किया। किसानों ने सरकार विरोधी नारे लगाए। धरने के बाद किसान ट्रैक्टरों पर बैठ कर पलवल धरना स्थल की और रवाना हो गए। ट्रैक्टर मार्च व धरना प्रर्दशन के दौरान किसान भारी पुलिस बल भी पहुंच गया था। हालांकि संख्या कम होने से कोई जाम जैसी समस्या नहीं बनी।
  • हरियाणा से दिल्ली आने वाले हुए परेशान, किसान ट्रैक्टर रैली से बाधित रहा पेरिफेरल एक्सप्रेस-वे। लोगों को आवाजाही में हुई परेशानी, अंदरूनी सड़कों पर लगा जाम।
  • गाजियाबाद : बील अकबरपुर से वापस यूपी गेट लौट रहे अधिकांश ट्रैक्टर, कुछ ट्रैक्टर सिरसा टोल की तरफ रवाना हुए।
  • तीन कृषि कानूनों के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे किसानों ने अन्य किसान संगठनों के साथ एकजुटता दिखाते हुए दिल्ली के बुराड़ी में ट्रैक्टर रैली निकाली।
  • दिल्ली मेरठ एक्सप्रेस-वे पर दिल्ली से हापुड़ की तरफ जाने वाले रास्तों पर ट्रैफिक रोका गया है। लाल कुआं और डायमंड से ट्रैफिक को शहर के अंदर डायवर्ट किया गया है। हापुड़ रोड से एक्सप्रेस-वे पर आने वाले रास्ते को भी बंद किया हुआ है। वाहन कई जगह जाम में फंसे हैं।
  • ग्रेटर नोएडा में पेरिफेरल एक्सप्रेस-वे को बंद कर दिया गया है।हरियाणा के पलवल में किसानों द्वारा ट्रैक्टर रैली निकाली जा रही है, पलवल में विरोध कर रहे किसान सिंघु बॉर्डर की ओर बढ़ रहे हैं।

यूपी गेट से सैकड़ों ट्रैक्टर NH-9 के दिल्ली-गाजियाबाद कैरिजवे से होते हुए डासना तक लगभग 19 किमी की दूरी तय करेंगे। एनएचएआई के अधिकारियों ने कहा कि किसानों के ट्रैक्टर मार्च से दोनों प्रमुख हाईवे पर यातायात प्रभावित होगा। उन्होंने कहा कि ईस्टर्न पेरिफेरल एक्सप्रेस-वे पर प्रति दिन लगभग 50000 यात्री कारें गुजरती हैं जबकि यूपी गेट मार्ग पर लगभग 80000 वाहन गुजरते हैं

गाजीपुर सीमा पर भारतीय किसान यूनियन के प्रवक्ता राकेश टिकैत ने कहा कि आज, हमारी ट्रैक्टर रैली डासना, अलीगढ़ रोड तक जाएगी और फिर गाजीपुर लौट जाएगी। यह 26 जनवरी को एक समान रैली के लिए पूर्वाभ्यास है। केंद्र सरकार के साथ अगले दौर की वार्ता कल आयोजित की जाएगी।

  • गाजीपुर बॉर्डर से चले किसान डासना पहुंच गए हैं, यहां से अपने ट्रैक्टर ट्रॉली जत्थे के साथ वह ईस्टर्न पेरीफेरल पर चढ़कर पलवल की तरफ निकल गए इस दौरान यहां जिला अधिकारी समेत कई आला अधिकारी मौजूद हैं।
  • सिलसिलेवार ट्वीट में यातायात पुलिस ने कहा कि सिंघू, औचंदी, प्याऊ मनियारी, सबोली और मंगेश बार्डरा यातायात के लिए बंद है। यातायात पुलिस ने कहा, ”किसानों के प्रदर्शन के कारण चिल्ला और गाजीपुर बॉर्डर बंद हैं। नोएडा और गाजियाबाद से दिल्ली आने के लिए आनंद विहार, डीएनडी, भोपुरा और लोनी बार्डर जैसे वैकल्पिक मार्ग का इस्तेमाल करें।
  • पहले किसान पलवल तक ट्रैक्टर रैली निकालने वाले थे लेकिन अब वे नोएडा तक ही जाएंगे और गाजीपुर लौटेंगे। पर्याप्त पुलिस बल तैनात है, वीडियो रिकॉर्डिंग की जा रही है: शैलेन्द्र कुमार सिंह, एडीएम (सिटी), गाजियाबाद जिला, उत्तर प्रदेश
  • दिल्ली के सिंघू बॉर्डर पर भारी सुरक्षा तैनात की गई है जहां किसान कृषि कानूनों का विरोध कर रहे हैं। पूर्वी और पश्चिमी परिधीय सहित दिल्ली की चार सीमाओं पर आज किसान ट्रैक्टर रैली आयोजित करेंगे।