छात्रों के साथ युवा IAS, IPS अधिकारी हर महीने करेंगे संवादः मनीष सिसोदिया

0 93


दिल्ली सरकार ने आइएएस और आइपीएस बनने का सपना देखने वाले बच्चों के लिए एक नया कार्यक्रम शुरू किया है। इस कार्यक्रम में छात्रों के साथ युवा आइएएस, आइपीएस अधिकारी हर महीने संवाद करेंगे। अधिकारी अपनी पढ़ाई और तैयारी से जुड़े अनुभव शेयर करेंगे। वे स्कूली शिक्षा के दौरान ही सिविल सर्विस की तैयारी और लाइफ स्टाइल संवारने के टिप्स देंगे। इससे छात्रों में यूपीएससी परीक्षा की समझ पैदा होगी तथा अध्ययन प्लान बनाने में मदद मिलेगी। इस कड़ी की पहली सीरीज में बृहस्पतिवार को दिल्ली के शिक्षा निदेशक उदित प्रकाश ने छात्रों के साथ अपनी यूपीएससी की तैयारी संबंधी अनुभव शेयर किए।

कक्षा 9 से 12 वीं तक के लगभग 60 बच्चों के साथ प्रत्यक्ष संवाद के अलावा इस कार्यक्रम में लगभग 5000 बच्चे भी यूट्यूब लाइव के माध्यम से जुड़े। अपनी यूपीएससी की तैयारियों से जुड़े अनुभव बताते हुए 2007 बैच के आइएएस उदित प्रकाश ने कई महत्वपूर्ण जानकारियां दीं। उन्होंने कहा कि किसी भी विषय में स्नातक के बाद यह परीक्षा दे सकते हैं। इसलिए इस परीक्षा के बारे में अच्छी तरह जानकारी होना जरूरी है। उन्होंने कहा कि किस विषय और किस भाषा को लेना है, यह हर छात्रों की अपनी पसंद और ज्ञान पर निर्भर करता है। यह परीक्षा आपके पूरे व्यक्तित्व और चरित्र की परीक्षा होती है।


छात्र बड़ा सपना देखेंः सिसोदिया

कार्यक्रम के अंत में उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने भी बच्चों से कहा कि जो छात्र आइएएस बनने का सपना देखते हों, उन्हें इससे भी आगे का बड़ा सपना देखना चाहिए। उपमुख्यमंत्री ने कहा कि युवा आइएएस-आइपीएस से बच्चों का संवाद होगा, तो सिविल सर्विसेस की समझ बनेगी। बता दें कि सरकार का मानना है कि इससे छात्रों को काफी राहत मिलेगी। छात्र अधिकारियों से तैयारी के संबंध में बहुत कुछ सीख सकेंगे। वहीं छात्रों ने भी सरकार के इस कदम की सराहना की है।