गौतम गंभीर बोले- अब रोहित शर्मा की वजह से इस खिलाड़ी को नहीं किया जाना चाहिए बाहर

0 80


26 दिसंबर से मेलबर्न में शुरू होने वाले मैच से एक दिन पहले भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड यानी बीसीसीआइ ने दूसरे टेस्ट मैच के लिए भारतीय टीम की प्लेइंग इलेवन का ऐलान कर दिया है। इसी के साथ ये भी पता चल गया है कि शुभमन गिल भारत के लिए टेस्ट क्रिकेट में डेब्यू करने वाले हैं। शुभमन गिल को पृथ्वी शॉ की जगह टीम में चुना गया है, लेकिन तब क्या होगा जब रोहित शर्मा बतौर सलामी बल्लेबाज अगले टेस्ट मैच में वापसी करेंगे? ऐसे में भारतीय टीम के पूर्व सलामी बल्लेबाज गौतम गंभीर ने कहा है कि अगर रोहित के आने से शुभमन गिल को अगले मैच में ड्रॉप किया जाएगा तो ये अनुचित होगा।

भारत के पूर्व सलामी बल्लेबाज गौतम गंभीर को उम्मीद है कि टीम प्रबंधन युवा खिलाड़ी को खुद को साबित करने का अच्छा और लंबा मौका देगा। उन्होंने उम्मीद जताई कि प्रबंधन बल्लेबाज शुभमन गिल की क्षमताओं पर भरोसा दिखाएगा और एक उम्मीद की वजह से उनको नहीं चुना है। रोहित शर्मा अगले टेस्ट मैच से पहले क्वारंटाइन पूरा कर लेंगे। ऐसे में तीसरे टेस्ट मैच में ओपनर के तौर पर कौन से दो बल्लेबाज पारी की शुरुआत करेंगे ये देखने वाली बात होगी।


गौतम गंभीर ने एक स्पोर्ट्स यूट्यूब चैनल पर बात करते हुए कहा, “शुभमन गिल ओपनिंग बल्लेबाज के रूप में सफल होंगे या नहीं यह तो वक्त ही बताएगा, लेकिन ऑस्ट्रेलिया में बॉक्सिंग डे टेस्ट में अपनी शुरुआत करने का अवसर प्राप्त करना, इससे बड़ा कुछ नहीं हो सकता, लेकिन मुझे उम्मीद है कि टीम प्रबंधन उसे उम्मीद पर नहीं चुनेगा। उसे भरोसे पर शामिल किया गया है, क्योंकि अगर आप किसी को भरोसे में लेते हैं तो आप उसे एक लंबा मौका देते हैं। जब आप किसी को आशा पर चुनते हैं, तो आप केवल उम्मीद कर रहे हैं कि मुझे आशा है कि वह अच्छा करेगा।”

गंभीर ने यह भी कहा कि अगर रोहित शर्मा के टीम में वापस आने के बाद युवा बल्लेबाज गिल को प्लेइंग इलेवन से बाहर किया जाएगा तो यह अनुचित होगा। उन्होंने कहा है, “अगर आप शुभमन गिल को चुनते हैं तो मुझे यकीन है कि वे उस पर भरोसा दिखाने के बारे में सोच रहे होंगे। यहां तक कि अगर रोहित शर्मा वापस आते हैं तो भी उन्हें उस बल्लेबाजी क्रम में रखना होगा। शुभमन गिल पर यह बहुत अनुचित होगा, यदि वह ओपनिंग करते हैं और 20-30 रन पर आउट हो जाते हैं और फिर रोहित शर्मा के वापस आने के बाद प्लेइंग इलेवन से बाहर हो जाते हैं।”