कोविशील्ड को लेकर ट्रेडमार्क विवाद में सीरम को मिली राहत

0 55


कोविशील्ड ब्रांडनेम से कोरोना वैक्सीन बनाने वाली कंपनी सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया को कोर्ट से बड़ी राहत मिली है। एक स्थानीय अदालत ने सीरम को कोविशील्ड नाम के इस्तेमाल से रोकने की मांग वाली याचिका खारिज कर दी है। सीरम ने ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी-एस्ट्राजेनेका की कोरोना वैक्सीन को कोविशील्ड नाम दिया है। देश में टीकाकरण अभियान के लिए सरकार ने सीरम से इसकी 1.10 करोड़ डोज भी खरीदी है। क्यूटिस-बायोटेक ने सीरम इंस्टीट्यूट के खिलाफ याचिका दायर की थी।

कंपनी ने कहा कि कोर्ट के आदेश की कॉपी उसे अभी नहीं मिली है। आदेश की कॉपी मिलने के बाद कंपनी उसके खिलाफ हाई कोर्ट में अपील करेगी। फार्मास्यूटिकल कंपनी क्यूटिस-बायोटेक ने चार जनवरी को कोविशील्ड ट्रेडमार्क को लेकर सीरम के खिलाफ दीवानी अदालत में वाद दायर किया था। कंपनी ने कहा था कि वह पहले से ही कोविशील्ड ब्रांडनेम का इस्तेमाल करती है।


उसने सीरम को कोविशील्ड नाम का इस्तेमाल करने से रोकने की मांग की थी। सीरम ने कहा कि दोनों ही कंपनियां अलग-अलग उत्पाद से जुड़ी हैं और इसलिए ट्रेडमार्क को लेकर किसी तरह के भ्रम की कोई संभावना नहीं है। सीरम के वकील हितेश जैन ने कहा कि कोर्ट ने उनकी दलील पर क्यूटिस-बायोटेक की याचिका खारिज कर दी। क्यूटिस के वकील आदित्य सोनी ने कहा कि वह इस आदेश के खिलाफ हाई कोर्ट में अपील करेंगे।