कोरोना संक्रमण काल के बाद खुले स्कूलों में उत्सव की तैयारी, 13 मार्च को अभिभावकों से होगा संवाद

58


कोरोना महामारी के चलते मार्च 2020 के बाद से बंद हुए परिषदीय व उच्च परिषदीय विद्यालय पहली मार्च 2021 में खुले तो अब उत्सव की तैयारी की जा रही। अाने वाली 13 तारीख को स्कूलों में शिक्षा चौपाल लगाने के साथ अभिभावकों से भी संवाद स्थापित करने का कार्यक्रम तय किया गया है। इसके लिए विद्यालयों में शिक्षकों ने तैयारी शुरू कर दी है।

कोरोना संक्रमण काल में सभी स्कूल बंद करने के आदेश दिए गए थे। हालांकि स्थितियां ठीक हुईं तो सरकार ने पहले 10 फरवरी से उच्च परिषदीय विद्यालयों का संचालन शुरू किया और फिर एक मार्च से कक्षा एक से लेकर पांचवीं तक की कक्षाएं शुरू हो गईं। अब कोरोना महामारी के चलते जो बदलाव हुए हैं, उन पर हर स्कूल में पहले उत्सव मनाने की तैयारी है। 13 मार्च को प्रेरणा ज्ञानोत्सव संगोष्ठी नाम से होने वाले इस कार्यक्रम के तहत हर स्कूल में शिक्षा चौपाल लगेगी। शिक्षक, बच्चों व अभिभावकों से संवाद करेंगे।


ये गतिविधियां होंगी

स्कूल प्रबंध समिति को क्रियाशील बनाना
अभिभावकों के साथ मिशन प्रेरणा के लक्ष्य को साझा किया जाना
सामुदायिक सहभागिता सुनिश्चित किया जाना
कोविड के संबंध में जिज्ञासाओं का समाधान करना
इस तरह रहेगा कार्यक्रम का शेड्यूल

दीप प्रज्ज्वलन व सरस्वती वंदना- पांच मिनट
बेसिक शिक्षा ‌विभाग की गतिविधियां व प्रस्तुतीकरण: एक घंटा 35 मिनट
ऑपरेशन कायाकल्प का प्रस्तुतीकरण: 15 मिनट
मिशन प्रेरणा व कक्षाकक्ष रूपांतरण: 15 मिनट
लिंग संवेदीकरण पर प्रस्तुतीकरण: 10 मिनट
दीक्षा व रीड एलांग एप पर जानकारी: 10 मिनट
मानव संपदा कार्यक्रम की जानकारी: 10 मिनट
शारदा व समर्थ कार्यक्रम की जानकारी: 10 मिनट
कार्यक्रम कराने के लिए मिले 5.77 लाख रुपये


बीएसए डॉ.पवन तिवारी ने बताया कि हर स्कूल में बेहतर ढंग से कार्यक्रम हो, इसके लिए शासन से 5.77 लाख रुपये भेजे गए हैं। इसके मुताबिक हर स्कूल को राशि भी आवंटित कर दी गई है।

Get real time updates directly on you device, subscribe now.