कोरोना वायरस के बढ़ते मामलों से बिगड़ी स्थिति, यहां पर श्मशान घाटों और कब्रिस्तानों में नहीं बची जगह

113


Death from Covid-19: कोरोना से मौत के आंकड़े प्रशासन भले ही पूरे नहीं बता रहा हो, लेकिन विश्राम घाटों और कब्रिस्तान से रोज भयावह मंजर सामने आ रहे हैं। विश्राम घाटों पर कोरोना संक्रमित शवों का अंतिम संस्कार करने की जगह नहीं बची है। हालत यह हो गई सुभाष नगर विश्राम घाट पर जगह नहीं होने के कारण कई शवों का अंतिम संस्कार रोक दिया गया, उनकी अंत्येष्टि सोमवार यानी आज होगी। रविवार को भोपाल में 67 कोरोना संक्रमितों का अंतिम संस्कार किया गया। एक दिन में अब तक की यह सबसे ज्यादा संख्या है। हालांकि प्रशासन ने रविवार को सिर्फ तीन मौतों की घोषणा की है।

चिता स्टैंड के बाहर कुछ शवों की अंत्येष्टि

सुभाष नगर विश्राम घाट पर 43 शव अंतिम संस्कार के लिए पहुंचे। इसमें 24 शव कोरोना संक्रमित थे। इतनी ज्यादा संख्या में शव आने के कारण यहां जगह ही नहीं बची। सुभाष नगर विश्राम घाट के अध्यक्ष शोभराज सुखवानी ने बताया कि रविवार को सुभाषष नगर विश्राम घाट में चिता स्टैंड के बाहर कुछ शवों की अंत्येष्टि करनी पड़ी, शव ज्यादा होने के कारण कुछ शव सोमवार के लिए रखे गए हैं।


विश्रााम घाट पर नए चिता स्‍थल बनाए गए

वहीं, भदभदा विश्राम घाट पर रविवार को 49 शव अंतिम संस्कार के लिए पहुंचे। इसमें से 39 देह कोरोना संक्रमित थी। इन 39 देह में 27 भोपाल की और 12 देह अन्य जिलों की थीं। भदभदा विश्राम घाट के अध्यक्ष अरण चौधरी ने बताया कि भदभदा विश्राम घाट पिछले तीन दिन से नए चिता स्थल बनाने का काम पूरा हो गया है। यहां दो एकड़ क्षेत्र में 30 शवों के अंतिम संस्कार के लिए जगह तैयार की गई है। 15 जगहों पर चिता स्टैंड भी लगा दिए गए हैं। सोमवार को सभी जगह चिता स्टैंड लगा दिए जाएंगे। वहीं झदा कब्रिस्तान में चार संक्रमित शवों को सुपुर्द-ए-खाक किया गया।

Get real time updates directly on you device, subscribe now.