कोरोना के बढ़ते मामलों से महाराष्‍ट्र और पंजाब में चिंताजनक स्‍थिति, इन जिलों में सबसे ज्‍यादा मामले

0 25


देश में कोरोना के बढ़ते मामलों और टीकाकरण की स्‍थिति को लेकर प्रेस कांफ्रेंस करते हुए स्‍वास्‍थ्‍य सचिव राजेश भूषण ने कहा कि दो राज्य गंभीर चिंता का विषय हैं, जहां हाल ही में कोरोना के मामलों में वृद्धि देखी गई है। महाराष्ट्र में पिछले 24 घंटों में 28,000 से अधिक कोरोना के मामले सामने आए हैं। पंजाब में अपनी जनसंख्या के अनुपात में बड़ी संख्या में कोरोना के मामलों की रिपोर्ट कर रहा है। शीर्ष 10 जिले जहां कोरोना के अधिकतम सक्रिय मामले केंद्रित हैं, उनमें पुणे, नागपुर, मुंबई, ठाणे, नासिक, औरंगाबाद, बेंगलुरु शहरी, नांदेड़, जलगांव और अकोला शामिल हैं। इनमें महाराष्ट्र के नौ जिले और एक कर्नाटक में है।स्‍वास्‍थ्‍य सचिव ने कहा कि उनके अलावा गुजरात और एमपी भी चिंता का विषय हैं। गुजरात में कोरोना के रोजाना लगभग 1700 मामले सामने आ रहे हैं और मध्‍य प्रदेश में रोजाना लगभग 1500 मामले सामने आ रहे हैं। गुजरात में ज्यादातर मामले सूरत, अहमदाबाद, वडोदरा, राजकोट और भावनगर में केंद्रित हैं। मध्‍य प्रदेश में यह भोपाल, इंदौर, जबलपुर, उज्जैन और बैतूल में केंद्रित है।

राजेश भूषण ने कहा कि महाराष्ट्र, पंजाब, कर्नाटक, छत्तीसगढ़ और गुजरात में कोविड-19 के दैनिक मामलों में बढ़ोतरी दर्ज की जा रही है और संक्रमण के कुल नए मामलों में इन राज्यों की हिस्सेदारी 77.44 प्रतिशत है। बीते 24 घंटों के दौरान देश में संक्रमण के कुल 47,262 नए मामले सामने आए हैं। मंत्रालय के मुताबिक कुल नए मामलों में से 81.65 प्रतिशत छह राज्यों से मिले हैं। सरकारी आंकड़ों के मुताबिक महाराष्ट्र में एक दिन में सबसे ज्यादा 28,699 नए मामले सामने आए और इसके बाद पंजाब में 2,254 और कर्नाटक में 2,010 संक्रमित मिले।


स्‍वास्‍थ्‍य सचिव ने कहा कि सरकार ने फैसला लिया कि एक अप्रैल से 45 वर्ष से अधिक उम्र के नागरिक वैक्सीन लगवा सकते हैं। ये फैसला इसलिए लिया गया क्योंकि हमारे देश में कोरोना की कुल मौतों की 88 फीसद मौतें 45 वर्ष और उससे ​अधिक उम्र के लोगों की हैं।

नीति आयोग के सदस्‍य डा. वीके पॉल ने कहा कि हमारे पास टीकाकरण कार्यक्रम के लिए टीके की पर्याप्त आपूर्ति है, जिसे आगे लाया गया है। वैक्सीन आपूर्ति की कोई कमी नहीं है। भारत में बुधवार सुबह 10 बजे तक 5,08,41,286 कोरोना वैक्सीन दी गई है। तेलंगाना, चंडीगढ़, नागालैंड और पंजाब में स्वास्थ्य कर्मचारियों का टीकाकरण कम रहा है।

राष्ट्रीय रोग नियंत्रण केंद्र (एनसीडीसी) के निदेशक डॉ एसके सिंह ने कहा कि 18 राज्यों में कोरोना के वेरिएंट के 771 मामलों का पता चला है। इनमें 736 ब्रिटेन के नए वेरिएंट, दक्षिणी अफ्रीकी वेरिएंट के 34 और ब्राजील के वेरिएंट का 1 शामिल है।

ज्ञात हो कि पिछले 24 घंटे में कोरोना वायरस के 47,262 नए केस आए हैं और 275 मौतें हुई हैं। भारत का कुल सक्रिय मामले बुधवार तक 3,68,457 तक पहुंच गए हैं। इनमें ठीक होने वाले कुल 1,12,05,160 मामले हैं।