कोरोना के नए आंकड़ों से सहमा देश, कई राज्यों में दिखने लगी सुनसान सड़कें, जानें- कहां-कहां लगी पाबंदियां

0 65


टेस्टिंग से लेकर वैक्सीनेशन तक तमाम प्रयासों में तेजी के बावजूद महामारी COVID-19 की जकड़न में फंसा देश छटपटा रहा है। इस क्रम में देश के अधिकांश हिस्सों में लॉकडाउन व कर्फ्यू जैसे फैसले लिए जा चुके हैं। कहां इस साल की शुरुआत में स्कूलों के भी खुलने के संकेत स्पष्ट तौर पर दे दिए गए थे, लेकिन अब जब हर दिन एक लाख से अधिक कोविड-19 के नए मामले सामने आ रहे हैं तो लाचार हो फिर से शिक्षण संस्थानों को बंद करने का निर्णय ले लिया गया। रोज आने वाले भयावह आंकड़ों से यह स्पष्ट है कि देश कोरोना की दूसरी बड़ी लहर की चपेट में है। इससे बचाव को लेकर देश के सर्वाधिक संक्रमित राज्य महाराष्ट्र में तो वीकेंड लॉकडाउन और नाइट कर्फ्यू लगाया जा चुका है। देश की राजधानी दिल्ली में भी नाइट कर्फ्यू है। इसके अलावा उत्तर प्रदेश में भी आज यानि 8 अप्रैल से प्रशासन ने नाइट कर्फ्यू लगाने का ऐलान किया है। कई अन्य राज्यों में भी वीकेंड लॉकडाउन और नाइट कर्फ्यू जैसे प्रतिबंध लगाए गए हैं।


केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के आंकड़ों को देखें तो मात्र बुधवार को देश भर में कोविड-19 के कुल 1,26,789 नए मामले सामने आए और 685 संक्रमितों की मौत हो गई। इसके साथ ही अब तक देश में संक्रमितों का कुल आंकड़ा 1,29,28,574 हो गया और कोरोना संक्रमण के कारण मरने वालों की संख्या 1,66,862 हो गई।

कोरोना से बेहाल है महाराष्ट्र

देश के सर्वाधिक संक्रमित राज्य महाराष्ट्र में हालात बेहद खराब हैं। देश के कुल नए मामलों के 50 फीसदी से ज्यादा अकेले महाराष्ट्र से आ रहे हैं। उद्धव सरकार ने राज्य में वीकेंड लॉकडाउन और नाइट कर्फ्यू का भी ऐलान किया है। केवल बुधवार को महाराष्ट्र में कोरोना संक्रमण के 59,907 नए मामले सामने आए। जबकि 30,296 लोग ठीक भी हुए। इसके साथ ही एक दिन में महाराष्ट्र में 322 लोगों की मौत हुई। महाराष्ट्र में अब तक कोरोना के 31,73,261 मामले आए और अब तक 56,652 लोगों की मौत कोरोना संक्रमण के कारण हुई।


आज से उत्तर प्रदेश के इन शहरों में नाइट कर्फ्यू

उत्तर प्रदेश में कोरोना के कहर को देखते हुए स्थानीय प्रशासन ने लखनऊ, वाराणसी और कानपुर में नाइट कर्फ्यू का ऐलान किया है। इसके लिए नई गाइडलाइन जारी की गई। आज रात 9 बजे से सुबह 6 बजे तक प्रत्येक दिन नाइट कर्फ्यू रहेगा। फिलहाल यह कर्फ्यू 16 अप्रैल की सुबह 6 बजे तक रहेगा। इसके अलावा प्रयागराज, कानपुर, बनारस और नोएडा में भी नाइट कर्फ्यू लगाया गया है। नाइट कर्फ्यू के दौरान आवश्यक वस्तु को लाने ले जाने पर छूट रहेगी। उत्तर प्रदेश सरकार के अनुसार, लखनऊ विकास प्राधिकरण द्वारा संचालित सभी बडे़ पार्क प्रातः 7-10 बजे तथा शाम 4-8 बजे के मध्य ही खुले रहेंगे। मास्क लगाना तथा सोशल डिस्टेंसिंग बनाए रखना आवश्यक होगा। 65 वर्ष से अधिक आयु, सह – रूग्णता, गर्भवती स्त्रियां और 10 वर्ष आयु से नीचे के बच्चों का प्रवेश प्रतिबंधित रहेगा।


दिल्ली और पंजाब में नाइट कर्फ्यू

दिल्ली में रात 10 बजे से सुबह 5 बजे तक नाइट कर्फ्यू रहेगा। हालांकि, इस दौरान आवश्यक सेवाओं से जुड़े लोगों को छूट दी गई है। वहीं, पंजाब में रात 9 बजे से सुबह 5 बजे तक नाइट कर्फ्यू लगा दिया गया है। इससे पहले 12 जिलों में 10 अप्रैल तक नाइट कर्फ्यू लगाया गया था। अब इसे पूरे प्रदेश पर लागू कर इसकी अवधि 30 अप्रैल तक बढ़ा दी गई है। राज्य के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने राज्य में कोरोना की मौजूदा स्थिति की समीक्षा करते हुए सख्त कदम उठाने के निर्देश दिए हैं। प्रदेश में राजनीतिक रैलियों आदि पर भी रोक लगा दी गई है।

गुजरात में भी पाबंदियां, 20 शहरों में नाइट कर्फ्यू

कोरोना के बढ़ते मामलों के मद्देनजर गुजरात सरकार ने अहम फैसला लिया। यहां के 20 शहरों में कल रात आठ बजे से सुबह छह बजे तक नाइट कर्फ्यू की शुरुआत हो गई। साथ ही शादी समारोह में 100 लोगों के ही शामिल होने की अनुमति दी गई है। ग्रैंड इवेंट्स को 30 अप्रैल तक के लिए टाल दिया गया। सरकारी दफ्तर भी 30 अप्रैल तक शनिवार के दिन बंद रहेंगे।


मध्य प्रदेश के कई शहर लॉकडाउन

मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री ने आज बताया कि जिन शहरों में कोविड-19 संक्रमण के मामले अधिक हैं वहां उचित कार्रवाई की जाएगी। कोविड-19 हालात को देखते हुए मध्य प्रदेश के सभी शहरी इलाकों में शुक्रवार शाम 6 बजे से सोमवार सुबह 6 बजे तक लॉकडाउन लगाया गया है। मध्य प्रदेश के शाजापुर में 7 अप्रैल की रात 8 बजे से 10 अप्रैल की सुबह 6 बजे तक लॉकडाउन का ऐलान कर दिया गया है। वहीं राज्य में अभी भोपाल, इंदौर, जबलपुर, ग्वालियर, उज्जैन, विदिशा, छिंदवाड़ा, नरसिंहपुर, बड़वानी, बैतूल, खरगोन और रतलाम में केवल रविवार को लॉकडाउन लगाया गया है। इसके अलावा दूसरे राज्यों से मध्य प्रदेश आने वालों के साथ सख्ती की जाएगी और इसके लिए प्लानिंग की जा रही है। इसके तहत यहां के ग्रामीण इलाकों में सेंटर बनाए जाएंगे जहां दूसरे राज्यों के नागरिकों को आइसोलेट किया जा सके।


ओडिशा के दस जिलों में नाइट कर्फ्यू

ओडिशा (Odisha) के राज्य सरकार ने दस जिलों में नाइट कर्फ्यू लागू कर दिया है। रात 10 बजे से सुबह 5 बजे तक यहां के सुंदरगढ़, बारगढ़, झारसुगुडा, संबलपुर , बालनगिरबालनगिर, नुआपाडा, कालाहांडी, मलकानगिरी, कोरापुट और नाबारंगपुर जिलों में कर्फ्यू रहेगा। नाइट कर्फ्यू के दौरान केवल आवश्यक चीजों के लिए छूट होगी।

कोरोना की चपेट में छत्तीसगढ़, कई जिलों में संपूर्ण लॉकडाउन


छत्तीसगढ़ राज्य में बढ़ते कोरोना के मामलों के देखते हुए कई जिलों में संपूर्ण लॉकडाउन लागू किया गया है। अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक ने बताया, ‘लॉकडाउन 6 अप्रैल से 14 अप्रैल तक रहेगा। पुलिस जगह-जगह पर पैट्रोलिंग करेगी। नियमों का उल्लंघन करने पर कार्रवाई होगी।’ छत्तीसगढ़ के दुर्ग, राजनांदगांव आदि इलाकों में लॉकडाउन लगाया गया है। रायपुर में दस दिनों का लॉकडाउन लगाया गया है। इस बारे में घोषणा करते हुए रायपुर जिला कलेक्टर एस भारती दासन ने कहा कि कोविड की स्थिति को ध्यान में रखते हुए रायपुर जिले को 9 अप्रैल को शाम 6 बजे से 19 अप्रैल तक सुबह 6 बजे तक कंटेनमेंट क्षेत्र घोषित किया गया है। इस अवधि के दौरान जिले की सभी सीमाएं सील रहेंगी।उल्लेखनीय है कि केंद्र सरकार ने राज्य के कोरोना प्रभावित जिलों में हाई लेवल टीम भेजने का फैसला किया। सोमवार को राज्य में कोरोना के 7,000 से ज्यादा नए मामले रिपोर्ट हुए थे।


जानें बिहार-झारखंड का हाल

झारखंड की हेमंत सोरेन सरकार ने समूचे राज्य में नाइट कर्फ्यू लागू करने का आदेश दे दिया। इसके तहत अगले आदेश तक राज्य में सभी स्‍कूल, कॉलेज, जिम, सिनेमा हॉल, पार्क और सार्वजनिक स्‍थान बंद रहेंगे। इस फैसले के साथ ही राज्‍य सरकार ने राज्य में आंशिक तौर पर लॉकडाउन लगाने की फिर से मंजूरी दे दी। वहीं बिहार में भी कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए सभी शैक्षणिक संस्थानों को 11 अप्रैल तक बंद किया गया है। राज्य सरकार का कहना है कि कोरोना को लेकर वह लगातार अलर्ट है और स्थिति पर नजर बनाए हुए है। स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडे ने कहा है कि फिलहाल राज्य में हालात वैसे नहीं हैं कि लॉकडाउन लगाया जाए।

जम्मू-कश्मीर में भी पाबंदियां

कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए जम्मू-कश्मीर में सोमवार से स्कूलों को बंद कर दिया गया है। कश्मीर में डॉक्टरों, नर्सों और अन्य पैरामेडिकल स्टाफ की छुट्टियां रद कर दी गई हैं। उपराज्यपाल मनोज सिन्हा राज्य में कोरोना की स्थिति पर लगातार नजर बनाए हुए हैं।

देश के दक्षिण में कोविड-19

चुनावी राज्य तमिलनाडु में भी कोरोना के मामले फिर बढ़ रहे हैं। हालांकि राज्य के स्वास्थ्य सचिव जे राधाकृष्णन का कहना है कि चुनाव के बाद लॉकडाउन लगाने की अफवाहों पर लोग ध्यान ना दें। दूसरे चुनावी राज्य केरल में भी मंगलवार को कोरोना के 3,500 से ज्यादा नए मामले रिपोर्ट हुए हैं। इसके अलावा आंध्र प्रदेश, तेलंगाना और कर्नाटक में भी मामले लगातार बढ़ रहे हैं।