केबीसी में रातों रात नहीं मिली कामयाबी

0 69


वीरवार की रात प्रस्तुत सोनी टीवी पर कौन बनेगा करोड़पति के मंच पर बिश्नाह के अंकुश शर्मा ने 25 लाख जीतकर बिश्नाह व जम्मू-कश्मीर का नाम रोशन किया। उसी खुशी को साझा करते हुए अंकुश शर्मा ने कहा कि यह कामयाबी रातों-रात नहीं मिली है। इसके लिए मुझे लंबा संघर्ष करना पड़ा।

मैं पिछले पांच वर्ष से केबीसी में जाने के लिए मेहनत कर रहा था। उनके हर सवाल का जवाब दे रहा था, तब कहीं जाकर मेरा नंबर आया और वहां पर भी मुझसे पहले फास्टर फिगर में पूछे गए प्रश्नों में मैं लगातार दूसरों से पांच सेकेंड लेट हो रहा था। इस वजह से थोड़ी चिता तो हुई, लेकिन मैंने हिम्मत नहीं हारी और अंत में मुझे यह कामयाबी मिली। मेरे सैनिक पिताजी पुरुषोत्तम लाल शर्मा, माता नीलम शर्मा ने मुझे हमेशा संघर्ष करना सिखाया है। उन्होंने मुझे यही शिक्षा दी है कि बुरे वक्त में और भी ज्यादा मेहनत करनी चाहिए, तभी कामयाबी मिलती है।

उसी को मूल मंत्र बनाकर मैं आगे बढ़ा हूं। अंकुश शर्मा ने कहा कि मुझे छोटी उम्र में ही पता चल गया था कि मेरी दोनों टांगों का विकास किसी कारण नहीं हो सका। इसलिए मुझे कुछ ऐसा करना होगा, जिससे मेरी यह कमी ना दिखे और मैं और भी मजबूत होकर हालात का सामना करूं। मैंने शिक्षा को अपना हथियार बनाया और खूब मेहनत की। पढ़ने के बाद मुझे पंजाब नेशनल बैंक में नौकरी मिली और अभी भी मुझे पढ़ने का शौक है। मैं पढ़ता रहता हूं। यही वजह है कि मैं कौन बनेगा करोड़पति में मौका मिलने पर 25 लाख रुपये जीत पाया।

मुझे आज पूरा देश जानता है। पूरे क्षेत्र से मुझे बधाइयां मिल रही हैं। लोग हमारे घर भी बधाइयां देने आ रहे हैं। मैं सभी से यही कहूंगा कि आप हमेशा शिक्षा को ही अपना हथियार बनाइए। कलम का सिपाही कभी पीछे नहीं रह सकता। मैं इसके लिए उन लोगों का आभार जताता हूं, जिन्होंने अपना प्यार मुझ पर न्योछावर किया। मैं इसके लिए अपने परिवार, दोस्तों, क्षेत्र के लोगों का आभार व्यक्त करता हूं।