केंद्र सरकार से बातचीत पर है यूपी गेट पर प्रदर्शन कर रहे किसानों की नजर

0 100


कृषि कानूनों को वापस लेने के मुद्दे पर वार्ता करने के लिए केंद्र सरकार मंगवलार दोपहर 3 बजे के आसपास किसानों के प्रतिनिधिमंडल से बातचीत करेगी। वहीं वार्ता के इंतजार में यूपी गेट पर सैकड़ों किसान बैठे हुए हैं। सोमवार से ही किसानों ने अपनी धारा 288 लागू की है। किसानों ने मंगलवार को अन्य दिनों की तरह बैरिकेड को नहीं तोड़ा, लेकिन अपनी मांगों पर अड़े हैं, साथ यहां पर किसानों की संख्या बढ़ती जा रही है।

गौरतलब है कि यूपी गेट पर उत्तर प्रदेश के साथ उत्तराखंड के विभिन्न जिलों से किसान पहुंचे हुए हैं। शनिवार से बड़ी संख्या में किसान यूपी गेट पर आंदोलन कर रहे हैं। कृषि के तीन कानूनों के खिलाफ किसानों का आंदोलन चल रहा है। वही किसानों की मांग है कि उनकी फसल का न्यूनतम समर्थन मूल्य निर्धारित किया जाए। यदि कोई इस न्यूनतम मूल्य से कम दर पर किसानों की फसल खरीदता है, तो उसके खिलाफ कानूनी कार्रवाई हो।

इस बीच केंद्र सरकार ने मंगलवार को किसान संगठनों से वार्ता करने के लिए उनके प्रतिनिधिमंडल को बुलाया है। मंगलवार दोपहर बाद केंद्र सरकार के मंत्री किसानों से कृषि कानून पर वार्ता करेंगे। वहीं, वार्ता के बाबत यूपी गेट पर बैठे किसानों का कहना है कि वार्ता के बाद प्रतिनिधि जो फैसला लेंगे उन्हें स्वीकार होगा। पिछले तीन दिनों की तरह मंगलवार को किसानों ने बैरिकेड नहीं तोड़ा है। किसान यूपी गेट पर शांतिपूर्ण तरीके से बैठे हुए हैं। यूपी गेट पर पहले से डायवर्जन किया गया है, जिससे राहगीरों को परेशानी का सामना नहीं करना पड़ रहा है।