किसान नेताओं का एलान, पुलिस के बताए हुए रूट से नहीं जाएंगे दिल्ली

0 86


तीनों केंद्रीय कृषि कानूनों को रद करने की मांग को लेकर अड़े किसान 26 जनवरी को दिल्ली में ट्रैक्टर मार्च भी निकालेंगे। इस बीच सोमवार को किसान नेताओं ने रिंग रोड पर परेड निकलने का एलान किया है। किसान नेता सतनाम सिंह पन्नू व सोहन सिंह पंडेर ने कहा कि हम दिल्ली पुलिस के बताए हुए रूट से नहीं जाएंगे। हम व हमारे साथ कई संगठन संयुक्त किसान मोर्चा की परेड से अलग परेड भी निकलेंगे।

दिल्ली की दहलीज पर किसानों ने ट्रैक्टर के साथ डाला डेरा

ज्यों-ज्यों गणतंत्र दिवस करीब आता जा रहा है, दिल्ली की सीमा पर किसान और ट्रैक्टरों का जमावड़ा बढ़ता जा रहा है। यूं तो दिल्ली से लगी हर सीमा पर किसानों की संख्या बढ़ रही है लेकिन टीकरी और कुंडली बार्डर पर भीड़ अधिक है। वहीं सिंघु बार्डर पर भी ट्रैक्टरों का जमावड़ा है। खुफिया सूत्रों के मुताबिक टीकरी बार्डर पर एक दिन में करीब 3000 हजार ट्रैक्टर पहुंचे हैं। यही हाल कुंडली बार्डर का भी है। यहां पर ट्रैक्टर-टालियों की कतार मुरथल तक पहुंच गई है।


पंपों पर नहीं मिल रहा डीजल: राकेश टिकैत


भारतीय किसान यूनियन के राष्ट्रीय प्रवक्ता राकेश टिकैत ने रविवार को यूपी गेट पर कहा कि पंपों पर किसानों के ट्रैक्टरों को डीजल नहीं मिल रहा है। ट्रैक्टर रास्तों पर रूके हुए हैं। जो पंप डीजल नहीं दे रहे हैं, ट्रैक्टर उनके बाहर खड़े कर दिए जाएंगे। डीजल मिलने पर ही ट्रैक्टर हटेंगे।

उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश में पंपों को यह निर्देश दिया गया है कि किसानों के ट्रैक्टरों को डीजल नहीं दिए जाएं। इस संबंध में पंपों पर नोटिस लगा दिया गया है। अमरोहा, मुरादाबाद व अन्य जनपदों से ऐसी सूचनाएं मिली रहीं हैं। गाजियाबाद में भी यह समस्या है। उन्होंने कहा कि देश में पहली बार हुआ है कि ट्रैक्टर में डीजल नहीं डाला जा रहा है।