कल से दूसरे चरण का होगा नौसेना मालाबार अभ्यास, भारत और अमेरिका समेत चार देश होंगे शामिल

95


चार देशों के बीच संयुक्त नौसेना मालाबार अभ्यास 2020 (Malabar Naval Exercise 2020) का दूसरा चरण 17 नवंबर से शुरू हो रहा है। मंगलवार से शुरू हो रहा यह अभ्यास 20 नवंबर 2020 तक उत्तरी अरब सागर में किया जाएगा। हाल ही में संपन्न हुए प्रथम चरण के अभ्यास के तालमेल को आगे बढ़ाते हुए, जो कि 03 से 06 नवंबर तक बंगाल की खाड़ी में आयोजित किया गया था। वहीं, दूसरे चरण में ऑस्ट्रेलिया, भारत, जापान और संयुक्त राज्य अमेरिका की नौसेनाओं के बीच बढ़ती जटिलता के समन्वित संचालन शामिल होंगे।

नौसेना मालाबार अभ्यास 2020 का दूसरा चरण भारतीय नौसेना के विक्रमादित्य कैरियर बैटल ग्रुप और यूएस नेवी के निमित्ज कैरियर स्ट्राइक ग्रुप के आसपास केंद्रित संयुक्त ऑपरेशन का गवाह बनेगा। भाग लेने वाले नौसैनिकों के जहाजों, पनडुब्बी और विमानों के साथ दो वाहक अगले चार दिनों दिनों तक अभियानों में लगे रहेंगे। इन अभ्यासों में विक्रमादित्यफैंड -18 के MIG 29K लड़ाकू विमानों द्वारा क्रॉस-डेक फ्लाइंग संचालन और उन्नत वायु रक्षा अभ्यास भी शामिल हैं। निमित्ज से सेनानियों और E2C हॉकआई ( E2C Hawkeye) इसके अलावा, उन्नत सतह और पनडुब्बी रोधी युद्ध अभ्यास, सीमांसशिप के विकास और हथियार फेरिंग भी चार मित्र राष्ट्रों के बीच अंतर-संचालन और तालमेल को बढ़ाने के लिए किए जाएंगे।

विक्रमादित्य और उसके लड़ाकू और हेलीकॉप्टर एयर-विंग्स, स्वदेशी विध्वंसक कोलकाता और चेन्नई के अलावा, स्टील्थ फ्रिगेट तलवार, फ्लीट सपोर्ट शिप दीपक और इंटीग्रल हेलीकॉप्टर भी अभ्यास में भाग लेंगे, जिसकी अगुवाई पश्चिमी सेना के फ्लैग ऑफिसर कमांडिंग रियर एडमिरल कृष्ण स्वामीनाथन करेंगे। भारतीय नौसेना के स्वदेशी निर्मित पनडुब्बी खंडेरियन P8I समुद्री टोही विमान भी अभ्यास के दौरान अपनी क्षमताओं का प्रदर्शन करेंगे।


यूएस नेवी की स्ट्राइक कैरियर निमित्ज में P8A समुद्री टोही विमान के अलावा क्रूजर प्रिंसटन और विध्वंसक स्टेरेट होंगे। वहीं, रॉयल ऑस्ट्रेलियन नेवी को अभिन्न हेलीकॉप्टर के साथ-साथ बैलरेट का प्रतिनिधित्व किया जाएगा। चार देशों के बीच हो रहे सुंयक्त नौसेना मालाबार अभ्यास में JMSDF भी हिस्सा लेगा

Get real time updates directly on you device, subscribe now.