कर्नाटक जाने वाले लोगों के लिए कोरोना टेस्ट हुआ अनिवार्य, बरती जा रही सख्ती

0 42


एक बार फिर से देश में कोरोना के मामले लगातार बढ़ रहे हैं। इस वक्त महाराष्ट्र ऐसा राज्य है जो सबसे ज्यादा संक्रमित है, लेकिन इस संक्रमण के जाल में कर्नाटक भी बुरी तरह फंसा हुआ है। कर्नाटक भी ऐसे राज्य में शामिल है जहां पर कोरोना के मामलों में लगातार इजाफा हो रहा है। आलम यह है कि कोरोना के नियमों का उल्लंघन करने वालों के खिलाफ एक बार फिर से सख्ती बरती जा रही है। अब कर्नाटक सरकार ने संक्रमण को रोकने के लिए नया निर्णय लिया है। राज्य में अन्य राज्यों से पहुंचने वाले लोगों को कोरोना टेस्ट कराना अनिवार्य होगा।

आरटी-पीसीआर टेस्ट लेना जरूरी

कर्नाटक के स्वास्थ्य मंत्री के. सुधाकर ने गुरुवार को जानकारी देते हुए कहा कि कोरोना के बढ़ते मामलों को ध्यान में रखते हुए किसी भी राज्य से राजधानी बेंगलुरु आने वाले लोगों को आरटी-पीसीआर टेस्ट लेना जरूरी होगा। स्वास्थ्य मंत्री ने बताया कि इसमें केरल, महाराष्ट्र, पंजाब, चंडीगढ़ और अन्य राज्य भी शामिल है। बता दें कर्नाटक समेत इन चार राज्यों में कोरोना के मामलों में लगातार इजाफा हो रहा है।


मास्क पहनने के साथ शारीरिक दूरी रखने पर मंत्री का जोर

मंत्री ने आगे बताया कि राज्य में इस बार नए मामलों में मरीजों की आयु 20 से 40 है। उन्होंने आगे कहा कि बाजार, भीड़भाड़ वाली सड़कों, बस स्टॉप, थिएटर, मैरिज हॉल, इवेंट प्लेस, धार्मिक स्थानों, कॉलेजों और किसी भी भीड़-भाड़ वाले स्थानों पर मास्क पहनना और शारीरिक दूरी को बनाए रखना महत्वपूर्ण है। आगे उन्होंने कहा कि शादी या किसी भी भीड़भाड़ वाले स्थानों पर अगर नियमों का उल्लंघन किया गया तो आयोजकों को जिम्मेदार ठहराया जाएगा और ऐसे आयोजकों पर जुर्माना लगाया जाएगा।


कर्नाटक में 30,29,544 लोगों को लगाया जा चुका है टीका

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के अनुसार कर्नाटक में अब तक 30,29,544 लोगों को कोरोना वैक्सीन की खुराक दी गई है। वहीं राज्य में इस वक्त 15,614 सक्रिय मामले हैं। 9,45,594 बीमारी से ठीक हो चुके हैं जबकि 12,449 लोगों की मौत हो गई है