ऑस्ट्रेलिया दौरे पर खुद को ही चुनौती देना चाहते हैं जसप्रीत बुमराह, दिया बड़ा बयान

0 84


भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच बहुप्रतीक्षित तीनों फॉर्मेट की सीरीज शुक्रवार से शुरू हो रही है। वनडे सीरीज का पहला मैच सिडनी क्रिकेट ग्राउंड में 27 नवंबर को खेला जाएगा। तीनों फॉर्मेट की क्रिकेट में भारत के तेज गेंदबाजी आक्रमण की इकाई का नेतृत्व फिर से जसप्रीत बुमराह करने वाले हैं। कप्तान विराट कोहली उनसे पारी की शुरुआत के साथ-साथ डेथ ओवरों में भी गेंदबाजी कराने वाले हैं। उधर, 26 वर्षीय खिलाड़ी बुमराह के लिए गेंदबाजी आक्रमण का नेतृत्व करने के लिए यह काफी चुनौतीपूर्ण हो सकता है, लेकिन बुमराह कहते हैं कि उन्हें चुनौतियां पसंद हैं, और दमदार टीम के खिलाफ खेलना उनको अच्छा लगता है।

जसप्रीत बुमराह ने कहा, “यह दौरा दिलचस्प होगा। जब आप ऑस्ट्रेलिया जाते हैं तो हमेशा एक चुनौती होती है और यह एक अच्छी तरह से लड़ी जाने वाली सीरीज है। आप इसके लिए तत्पर हैं, क्योंकि आप हमेशा सर्वश्रेष्ठ टीम के खिलाफ खेलना चाहते हैं, आप हमेशा अपने आप को चुनौती देना चाहते हैं और दबाव की स्थिति में रहना चाहते हैं।” 2018-19 में भारत की ऐतिहासिक सीरीज जीत का हिस्सा रहे बुमराह से हर किसी को उम्मीद है। खुद बुमराह इस चुनौती को स्वीकार कर रहे हैं। बुमराह ने पिछली बार सीरीज के 4 मैचों में 21 विकेट चटकाए थे, जिसमें वे नाथन लियोन के साथ संयुक्त रूप से सबसे अधिक विकेट लेने वाले गेंदबाज थे।


उन्होंने आगे कहा, “कई नई रोमांचक चीजें भी हैं। आपके पास गुलाबी गेंद का टेस्ट मैच है। उम्मीद है कि सबकुछ ठीक हो जाएगा और हमारे पास अच्छा समय होगा।” वास्तव में, बुमराह का यह भी मानना ​​है कि कोरोना वायरस की वजह से गेंद को चमकाने के लिए लार के उपयोग पर प्रतिबंध लगाने से सफेद गेंद की तुलना में पांच दिवसीय प्रारूप में खेलने के लिए एक बड़ी भूमिका होगी। बुमराह ने कहा है कि उनके लिए लाल गेंद के प्रारूप का एक बहुत बड़ा कारक है।