एनसीईआरटी पुस्तकों से सजेंगी परिषदीय स्कूलों की लाइब्रेरी

0 20

परिषदीय प्राथमिक व पूर्व माध्यमिक विद्यालयों की लाइब्रेरी में अब किसी भी तरह के किस्से-कहानियों की पुस्तक लाकर रख देने का खेल नहीं चलेगा। अब एनसीईआरटी की पुस्तकें ही लाइब्रेरी की शोभा बनेगी। बेसिक शिक्षा के अंतर्गत दिल्ली में स्थित एनसीईआरटी की गोदाम से पुस्तकों की खेप जिले में भेज दी गई है। फिलहाल अभी स्कूल बंद चल रहे हैं। एक अप्रैल से नए सत्र में विद्यालय खुलते ही पुस्तकों का वितरण सुनिश्चित किया जाएगा।

दरअसल, अभी तक परिषदीय स्कूलों की लाइब्रेरी में पुस्तकों के लिए विद्यालय प्रबंध समिति के खाते में धन भेजा जाता था। प्रधानाध्यापकों की ओर से पुस्तकों को क्रय किया जाता था। ऐसे में पुस्तकों में एकरूपता नहीं रहती थी। अब सभी स्कूलों में एनसीईआरटी के ही पुस्तकों को रखने की व्यवस्था कर दी गई है। प्रत्येक स्कूलों में कविता, किस्सा व कहानियों की 156 तरह की पुस्तकें रखी जाएगी। सर्व शिक्षा अभियान के जिला समन्वयक बालिका शिक्षा धीरज सिंह ने बताया कि उनके द्वारा दिल्ली के गोदाम से 1.76 लाख पुस्तकें लाई गई हैं। बीएसए अमित कुमार सिंह ने बताया कि स्कूल खुलते ही पुस्तकों को विद्यालयों को भेजा जाएगा। जिससे बच्चे इसका लाभ हासिल कर सकें।