एनएसयूटी के विद्यार्थियों को आधुनिक शिक्षा के साथ मिलेगी अंतरराष्ट्रीय स्तरीय सुविधा

0 94


आधुनिक शिक्षा के साथ विद्यार्थियों को अंतरराष्ट्रीय स्तरीय सुविधा प्राप्त हो, इसके लिए द्वारका सेक्टर-3 स्थित नेताजी सुभाष प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय (एनएसयूटी) में 11 ओडियो-विजुअल सुविधा युक्त स्मार्ट कक्षाएं तैयार करने का कार्य प्रगति पर है। खास बात यह है कि इन स्मार्ट कक्षाओं का लाभ एनएसयूटी कैंपस में पढ़ने वाले विद्यार्थियों के साथ ईस्ट और वेस्ट कैंपस यानि गीता कॉलोनी स्थित अंबेडकर इंस्टिट्यूट ऑफ एडवांस कम्यूनिकेशन टेक्नोलॉजी एंड रिसर्च और जाफरपुर स्थित चौ. ब्रह्म प्रकाश इंजीनियरिंग कॉलेज में पढ़ने वाले विद्यार्थी भी ले सकेंगे।

असल में इन स्मार्ट कक्षाओं में जब प्रोफेसर लेक्चर देंगे तो उसे ईस्ट और वेस्ट कैंपस में पढ़ने वाले विद्यार्थी उनसे लाइव माध्यम से जुड़ सकेंगे। इसके अलावा लेक्चर को रिकॉर्ड कर लिया जाएगा, ताकि भविष्य में विद्यार्थियों को यह दोबारा सुनाया व दिखाया जा सके। इसके अलावा ऑडियो वीडियो विजुअल माध्यम से विद्यार्थियों को गंभीर विषय को समझने में सुगमता होगी और उनकी रुचि बढ़ेगी।

हालांकि अभी लॉकडाउन के चलते सभी प्रोफेसर विद्यार्थियों की ऑनलाइन कक्षा ले रहे हैं जो एक ओडियो-विजुअल शिक्षा का ही एक माध्यम है, लेकिन ऑनलाइन कक्षा में उचित माहौल नहीं मिल पाने के कारण विद्यार्थी उसका भरपूर लाभ नहीं ले पा रहे है। पर इन स्मार्ट कक्षाओं में प्रोफेसर सामने होंगे और आसपास का वातावरण भी विद्यार्थियों का ध्यान केंद्रित करेगा।

जानकारी के मुताबिक 10 स्मार्ट कक्षाओं में 130 विद्यार्थियों को बिठाने की क्षमता है, जबकि एक कक्षा अन्य दस कक्षाओं के मुकाबले थोड़ी बड़ी है। इसमें 300 विद्यार्थियों के बैठने की व्यवस्था होगी। विश्वविद्यालय प्रशासन के मुताबिक एक कक्षा को बड़ा बनाने के पीछे उद्देश्य यह है कि कभी कोई प्रतिष्ठित प्रोफेसर या शख्सियत कक्षा लेने आए तो पूरी ब्रांच के विद्यार्थी एक साथ बैठ सके। इसके अलावा जल्द ही प्रोफेसरों को स्मार्ट कक्षा में पढ़ाने की ट्रेनिंग दी जाएगी, ताकि संवाद बेहतर हो।


हमारी कोशिश है कि विद्यार्थियों को बेहतर से बेहतर सुविधा मिले, जिससे उन्हें आगे बढ़ने का प्रोत्साहन मिले। इसके अलावा अन्य सुविधाओं के विकास की दिशा में कई कार्य प्रगति पर है। जिसमें सीटों व नए कोर्स के विस्तार साथ आधारिक संरचना को बढ़ावा देना शामिल है। मुख्य कैंपस के साथ ईस्ट और वेस्ट कैंपस के विद्यार्थियों को बराबर सुविधा मिले, इस दिशा में प्रशासन तत्पर है।