इस साल भी पराली जलाने में अव्‍वल पंजाब, पिछले साल की तुलना में 46 फीसद बढ़ा आगे

0 60


हर साल की तरह इस बार भी दिल्‍ली की आबो हवा को प्रदूषित करने वाले पंजाब और हरियाणा में बेरोक टोक पराली जलाई गई। केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड (Central Pollution Control Board) के अनुसार, प्राप्‍त आंकड़े पिछले साल की तुलना में 46.5 फीसद अधिक है। वहीं हरियाणा के खेतों में आग लगने की घटना इस साल 28.6 फीसद कम हो गई है।

हर साल ठंढ की शुरुआत के साथ पंजाब और हरियाणा में पराली जलाने का काम शुरू हो जाता है जिससे दिल्‍ली में प्रदूषण फैलता है। मंगलवार को जारी किए गए आंकड़ों प्रदूषण वॉचडॉग CPCB ने बताया कि 2020 में कुल आग लगने के इवेंट का आंकड़ा 76,537 रहा जो पिछले साल यानि 2019 में 52,225 (between 21 September and 22 November) था।