आरोन फिंच ने कोहली को बताया वनडे का सर्वकालिक महान खिलाड़ी, लेकिन दिमाग में है ये बात

0 59


कुछ ही दिनों पहले तक भारतीय टीम के कप्तान विराट कोहली और ऑस्ट्रेलियाई टीम के कप्तान आरोन फिंच साथ में इंडियन प्रीमियर लीग (IPL) में रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर (RCB) के लिए खेल रहे थे, लेकिन अब ये दोनों दिग्गज खिलाड़ी एक-दूसरे के आमने-सामने होंगे। दोनों देशों के बीच तीन-तीन मैचों की वनडे और टी20 सीरीज शुरू हो रही है, जिसमें भारत के कप्तान विराट कोहली होंगे, जबकि ऑस्ट्रेलिया की टीम की कमान आरोन फिंच के हाथों में होगी।

सीमित ओवरों की सीरीज से पहले कंगारू टीम के कप्तान आरोन फिंच ने विराट कोहली की जमकर तारीफ की है। भारत के खिलाफ शुक्रवार से शुरू हो रही तीन मैचों की वनडे सीरीज से पहले आरोन फिंच ने कहा है कि विराट कोहली वनडे क्रिकेट में विश्व के सर्वकालिक महान बल्लेबाज हैं। हालांकि, आरसीबी में विराट के साथ खेलने वाले आरोन फिंच ने ये भी बताया दिया है कि इस सीरीज में विराट कोहली के खिलाफ उनके दिमाग में कौन सी बात होगी।


क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया की वेबसाइट ने गुरुवार को फिंच के हवाले से लिखा, “अगर आप विराट कोहली के रिकार्ड देखते हैं तो उनके बराबर कोई नहीं है। यह शानदार है। हमें बस एक बात दिमाग में रखनी है कि हम उन्हें आउट कर सकते हैं।” वनडे क्रिकेट में विराट कोहली का औसत करीब 60 का है। फिंच ने कहा, “जब आप खिलाड़ी को रोकने के बारे में सोचते हो तो आप वहां गलती कर देते हो। उनकी बल्लेबाजी में ज्यादा खामियां नहीं हैं।”

कंगारू टीम के कप्तान ने आगे कहा, “वह वनडे के सर्वकालिक महान बल्लेबाज हैं, इसलिए उनके खिलाफ जरूरी है कि हम अपनी रणनीति पर टिके रहें और इस पर काम करते रहें।” फिंच ने टीम में बदलाव को लेकर कहा, “मैक्सवेल ने जो खेल दिखाया है, खासकर टी20 क्रिकेट में जहां उनकी गेंदबाजी लगातार सुधर रही है, वो शानदार है। मुझे लगता है कि स्टोइनिस को भी बीते कुछ वर्षों से आखिरी के ओवरों में जो मौके मिले हैं उसमें उन्होंने भी अपने आप को साबित किया है। यह हमारे लिए काफी अहम है।”


ऑस्ट्रेलिया की वनडे और टी20 टीम के कप्तान आरोन फिंच ने बताया, “इंग्लैंड में हमारे पास तीन ऑलराउंडर थे, जिसमें मिचेल मार्श भी शामिल थे। इसलिए आप आसानी से 10 ओवर बांट सकते थे। इस बार हमारे पास दो ऑलराउंडर मार्कस स्टोइनिस और ग्लेन मैक्सवेल के रूप में हैं। आप सिर्फ इसलिए ऑलराउंडर खिलाड़ी प्लेइंग इलेवन में ज्यादा नहीं चुनते हैं, क्योंकि गेंदबाजी संयोजन बिगड़ जाता है।”