आज से फिर चलेगी प्राइवेट ट्रेन ‘तेजस’, सभी यात्री ट्रेनें के संचालन पर रेलवे ने दिया यह जवाब

0 15


कोरोना काल में बंद पड़ी ट्रेनों के संचालन को अब फिर शुरु किया जा रहा है। देश की पहली प्राइवेट ट्रेन तेजस एक बार फिर से दौड़ती हुई नजर आएगी। 14 फरवरी से तेजस लखनऊ-नई दिल्ली और अहमदाबाद-मुंबई रेलमार्गों पर फिर से चलाई जाएगी। आईआरसीटीसी ने अपने ट्विटर हैंडल से यह जानकारी दी।तेजस ट्रेन देश की पहली प्राइवेट ट्रेन है। कोरोना महामारी के बीच में भी इसका संचालन किया गया था।

जानें-लखनऊ-नई दिल्ली प्राइवेट तेजस का किराया व टाइमिंग

लखनऊ-नई दिल्ली, और अहमदाबाद-मुंबई के बीच चलने वाली यह प्राइवेट ट्रेन हफ्ते में चार दिन ही चलती है। यात्रियों की भीड़ को देखते हुए शुक्रवार, शनिवार, रविवार और सोमवार को इसका संचालन किया जाता है। लखनऊ और नई दिल्ली के बीच चलने वाली तेजस ट्रेन के एसी चेयर कार का किराया 998 रुपये होता है जबकि एग्जेक्यूटिव चेयर कार किराया 2006 रुपये होता है। वहीं नई दिल्ली से लखनऊ आने पर एसी चेयर कार का किराया 1155 रुपये और एग्जेक्यूटिव चेयर कार किराया 2142 रुपये हो जाता है।


जानें- मुंबई सेंट्रल-अहमदाबाद प्राइवेट तेजस का किराया व टाइमिंग

यात्रियों की सुविधा और उनकी मांग के मद्देनजर पश्चिम रेलवे ने मुंबई सेंट्रल-अहमदाबाद निजी तेजस एक्सप्रेस को 14 फरवरी से सप्ताह में चार दिन पुन: चलाने का निर्णय लिया है। बता दें कि कोरोना महामारी के कारण यात्रियों की अपेक्षाकृत कम संख्या को देखते हुए आईआरसीटीसी द्वारा इस ट्रेन को 24 नवम्बर से रद कर दिया गया था। मुंबई सेंट्रल-अहमदाबाद तेजस एक्सप्रेस मुंबई सेंट्रल से दोपहर 3.50 बजे प्रस्थान कर और उसी दिन रात 10 .05 बजे अहमदाबाद पहुँचेगी। अहमदाबाद से सबेरे 6.40 बजे प्रस्थान कर और उसी दिन दोपहर 1.05 बजे मुंबई सेंट्रल पहुंचेगी। ये सेवाएं 14 फरवरी से हर शुक्रवार, शनिवार, रविवार और सोमवार को चलेंगी।


आईआरसीटीसी संचालित यह ट्रेन दोनों दिशाओं में बोरीवली, वापी, सूरत, भरूच, वडोदरा और नडियाड स्टेशनों पर रुकेगी। मुंबई से अहमदाबाद के बीच चलने वाली तेजस के एसी चेयर कार का किराया 1124 रुपये होता है जबकि एग्जेक्यूटिव चेयर कार किराया 2053 रुपये होता है। वहीं अहमदाबाद से लखनऊ आने पर एसी चेयर कार का किराया 1140 रुपये और एग्जेक्यूटिव चेयर कार किराया 2064 रुपये हो जाता है। मांग के आधार पर किराया बढ़ता और घटता भी रहता है।


होली या 1 अप्रैल से पूरी तरह बहाल नहीं होगी यात्री ट्रेन सेवा

इस बीच, रेलवे ने अप्रैल में यात्री ट्रेन सेवा पूरी तरह बहाल करने की खबरों से इन्कार किया है। रेलवे ने एक बयान जारी कर कहा कि इस तरह की खबरें आ रही हैं कि अप्रैल से यात्री ट्रेन सेवाएं पूरी तरह बहाल कर दी जाएंगी। इसको लेकर पिछले कुछ दिनों से हम लगातार स्पष्टीकरण देते रहे हैं। हम फिर से बताना चाहते हैं कि यात्री ट्रेन सेवाओं को पूरी तरह बहाल करने के लिए कोई तारीख निर्धारित नहीं की गई है। रेलवे ने अपने बयान में कहा कि हम अपनी ट्रेन सेवाओं को चरणबद्ध तरीके से बढ़ाते रहे हैं। 65 फीसद से ज्यादा ट्रेनें पहले ही पटरियों पर दौड़ रही हैं। 250 से ज्यादा ट्रेनों को तो अकेले जनवरी में बहाल किया गया।