अशासकीय स्कूलों में पदोन्नति से भरे जाएं प्रधानाचार्य के रिक्त पद

0 101


अशासकीय स्कूलों में प्रधानाचार्य के रिक्त पदों पर सीधी भर्ती से नियुक्ति के आदेश होने से शिक्षकों में असंतोष है। उत्तरांचल प्रधानाचार्य परिषद ने मुख्यमंत्री से मुलाकात कर रिक्त पद पदोन्नति के जरिए भरने की मांग की है। साथ ही अन्य छह मांगों को लेकर भी ज्ञापन सौंपते हुए जल्द कार्रवाई की मांग की।

शनिवार को परिषद के प्रदेश अध्यक्ष प्रकाश चंद्र सुयाल के नेतृत्व में एक प्रतिनिधिमंडल मुख्यमंत्री से मिला। प्रकाश चंद्र सुयाल ने कहा कि हाल ही में शासन ने अशासकीय स्कूलों में प्रधानाचार्य के खाली पद सीधी भर्ती से भरने के आदेश जारी किए थे। पहले से ही पद पर सालों से प्रभार संभाल रहे शिक्षकों को भी रिवर्ट कर दिया गया। सुयाल ने कहा कि यह न्याय संगत नहीं है। उन्होंने मुख्यमंत्री से यह आदेश निरस्त करवाने एवं रिक्त पद पदोन्नति के जरिए ही भरने की मांग की। महामंत्री एके कौशिक ने कहा कि जूनियर हाई स्कूल से हाई स्कूल में पदोन्नत प्रधानाध्यापकों को भी इसी प्रकार डाउन ग्रेड पदोन्नति का अनुमोदन मिलना चाहिए।

उन्होंने राजकीय शिक्षकों की भाति अशासकीय माध्यमिक स्कूलों के शिक्षकों को भी अटल आयुष्मान योजना का लाभ देने, चतुर्थ श्रेणी कर्मचारियों की नियुक्ति जल्द करने, अशासकीय माध्यमिक स्कूलों में वेतन का बजट निश्चित समय में निर्गत करने और शिक्षकों को नवीन सामूहिक योजना का लाभ देने की मांग की। कौशिक ने बताया कि मुख्यमंत्री ने सभी मांगों पर उचित कार्रवाई का आश्वासन दिया। प्रभारी प्रधानाचार्यो को यथास्थिति बहाल करने एवं संशोधन करने को कृषि मंत्री सुबोध उनियाल को भी परिषद ने ज्ञापन दिया। ज्ञापन देने वालों में आरसी शर्मा, दिनेश चंद्र डोबरियाल भी मौजूद रहे।